ताज़ा खबर
 

मांगा पानी तो मिली लाठियां, 200 के खिलाफ धारा 147 में मामला दर्ज

प्रदर्शनकारियों को मौके से हटाने और हालात पर काबू पाने के लिए लाठियां बरसाईं। प्रदर्शनकारियों में महिलाएं भी शामिल थीं।

Author इंदौर | June 9, 2016 00:38 am
केंद्रीय भू-जल बोर्ड के एक अध्ययन के मुताबिक दुनिया का हर दसवां प्यासा व्यक्ति भारत के गांवों में निवास करता है। (file photo)

बुधवार को घरों में पानी की आपूर्ति की मांग कर रहे करीब 200 लोगों ने इंदौर में बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (बीआरटीएस) कारिडोर पर चक्काजाम करते हुए कुछ गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया। पुलिस ने उग्र प्रदर्शनकारियों को मौके से हटाने और हालात पर काबू पाने के लिए लाठियां बरसाईं। प्रदर्शनकारियों में महिलाएं भी शामिल थीं।

विजय नगर थाने के एक सब इंस्पेक्टर ने बताया कि बर्फानी धाम क्षेत्र की कालोनियों के वासियों ने यह आरोप लगाते हुए बीआरटीएस कारिडोर पर चक्काजाम कर दिया कि नगर निगम के खाते में जल कर जमा करने के बाद भी उनके घरों में पानी की आपूर्ति नहीं की जा रही है। चक्काजाम से दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लग गयीं। उग्र प्रदर्शनकारियों ने कुछ बाइक सवारों के साथ बदसलूकी करते हुए उनके वाहनों की हवा निकाली दी।

इसके साथ ही, बीआरटीएस कारिडोर पर खड़ी लोक परिवहन की एक बस समेत कुछ चार पहिया वाहनों में तोड़फोड़ की। पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए उग्र प्रदर्शनकारियों पर लाठियां बरसानी पड़ीं। लाठी चार्ज के बाद प्रदर्शनकारी तितर-बितर हुए और उनका डेढ़ घंटे से जारी चक्का जाम खत्म हुआ। पुलिस ने करीब 200 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 147 (बलवा), 341 (रास्ता रोकना) और अन्य संबद्ध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। इनमें से 13 आरोपियों की पहचान कर ली गयी है।

वहीं जिले की आमला तहसील में पानी की आपूर्ति नहीं करने से नाराज एक युवक ने नगर पालिका के कर्मचारी को गोली मारकर घायल कर दिया। घायल कर्मचारी को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है। आमला पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपी लखन पानी नहीं मिलने से नाराज था। बीती रात उसका नगर पालिका कर्मचारी रमेश सुपतकर से पानी की आपूर्ति को लेकर विवाद हो गया और देखते ही देखते लखन ने देशी पिस्तौल से रमेश पर फायर कर दिया।

उन्होंने बताया कि घायल रमेश को उपचार के लिए आमला अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए पाढ़र के मिशनरी अस्पताल भिजवाया गया। डाक्टरों ने उसका आॅपरेशन कर गोली निकाल दी है। पुलिस ने आरोपी लखन को गिरफ्तार कर देशी पिस्तौल जब्त कर लिया है। इधर, आमला नगर पालिका परिषद के जलप्रदाय शाखा के कर्मचारियों ने गोली कांड के विरोध में हड़ताल शुरू कर दी है। जलप्रदाय शाखा कर्मचारियों की हड़ताल से नगर में पेयजल आपूर्ति की स्थिति और बिगड़ने के आसार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App