ताज़ा खबर
 

राजस्थान: सामने की सीटों पर महिलाएं बैठी दिखीं तो कार्यक्रम छोड़कर चले गए प्रेरक गुरु!

स्वामी ज्ञानवात्सल्य एक प्रेरक गुरु हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जयपुर में उन्होंने दर्शकों की सामने की पंक्ति में महिलाओं को बैठे देखा तो कार्यक्रम छोड़कर चले गए।

Author जयपुर | July 4, 2019 11:54 PM
स्वामी ज्ञानवत्सल (फोटो सोर्स: फेसबुक@gyanvatsalswami)

राजस्थान की राजधानी जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में बिना भाषण दिए एक प्रेरक गुरु के कार्यक्रम छोड़कर का मामला सामने आया है। यह घटना 30 जून की बताई जा रही है। जी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रेरक गुरु ने कार्यक्रम इसलिए छोड़ दिया, क्योंकि सामने की सीटों पर महिलाएं बैठी हुई थीं। बताया जा रहा है कि स्वामी ज्ञानवात्सल्य ने आयोजकों से पहली 3 पंक्तियों में महिलाओं को बैठने की अनुमति नहीं देने के लिए कहा था।

जानकारी के मुताबिक, राज मेडिकॉन 2019 नामक यह कार्यक्रम इंडियन मेडिकल असोसिएशन (IMA) और राजस्थान इन सर्विस डॉक्टर्स असोसिएशन (ARISDA) की ओर से आयोजित किया गया था। डॉक्टरों और आयोजकों की बातचीत के बाद यह तय हुआ कि पहली 2 पंक्तियों की सीटें खाली छोड़ दी जाएंगी। हालांकि, जब स्वामी ज्ञानवात्सल्य कार्यक्रम में पहुंचे तो उन्हें सामने की सीटों पर महिलाएं बैठी मिलीं।

National Hindi News, 04 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

ऐसे में स्वामी ज्ञानवात्सल्य ने आयोजकों से कहा कि वे अनाउंसमेंट करके महिलाओं से शुरुआती 3 पंक्तियों की सीटों पर नहीं बैठने के लिए कहें। डॉ. रितु चौधरी ने जी मीडिया को बताया कि पहली तीन पंक्तियों में बैठी काफी महिलाएं भाषण का इंतजार कर रही थीं। इस दौरान घोषणा हुई कि महिलाएं शुरुआती 7 पंक्तियों की सीटों को खाली कर दें। हालांकि, इसके तुरंत बाद पहली 3 पंक्तियों को खाली करने की घोषणा हुई, जिससे महिला डॉक्टर नाराज हो गईं और उन्होंने कार्यक्रम का विरोध कर दिया।

डॉ. रितु चौधरी के मुताबिक, आयोजकों ने इसे स्वामी ज्ञानवात्सल्य का प्रोटोकॉल बताया तो महिला डॉक्टर्स भड़क गईं। हालांकि, कुछ डॉक्टर प्रोटोकॉल फॉलो करने के लिए भी तैयार हो गई थीं। इस बीच स्वामी ज्ञानवात्सल्य को महिला डॉक्टरों के विरोध का पता चला तो वह बिना भाषण दिए लौट गए। एआरआईएसडीए के वरिष्ठ अधिकारी डॉ. अजय चौधरी ने जी मीडिया को बताया कि सामने की पंक्तियों में महिलाओं के बैठे होने की वजह से स्वामी ज्ञानवात्सल्य लौट गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App