ताज़ा खबर
 

हरियाणा: 18 बच्‍चों की मां ने कहा- मशहूर तो हुई मगर गरीबी से निजात न मिली

गरीबी में जिंदगी गुजार रही बेबस बिशर ने अपनी माली हालत को लेकर कहा है कि अगर सरकार ने उनके लिए कुछ नहीं किया तो जल्द ही उनके भूख से मरने की खबर भी सामने आएगी।

Author Updated: June 14, 2018 9:29 PM
18 बच्चों की मां बिशर फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट

हरियाणा के मेवात जिले के एक गांव अकेरा की रहने वाली बिशर को आज सभी जानते हैं। गुरुग्राम की चमक धमक से करीब 58 किलोमीटर दूर इस गांव में रहने वाली 55 साल की बिशर 18 बच्चों की मां हैं। बिशर ने 23 बच्चों को जन्म दिया था लेकिन जन्म के बाद 5 बच्चों की मौत हो गई। सन 1976 में बिशर की शादी मोहम्मद इशाक के साथ हुई थी, उस वक्त बिशर महज 13 साल की थी। इशाक बिशर से पांच साल बड़े थे। अगले 40 सालों में बिशर 23 बार गर्भवती हुईं। बिशर की सबसे छोटी बेटी शाबरा अभी 6 साल की है जबकि सबसे बड़ी बेटी शाहूनी है। 18 बच्चों की मां बिशर के पति का अब देहांत हो चुका है। बिशर ने बतलाया कि 2014 में उनके पति की मृत्यु हो गई और तब से उनका परिवार जीवन के लिए संघर्ष कर रहा है।

बिशर का कहना है कि एक वक्त था जब उन्हें मीडिया के जरिए काफी प्रसिद्धि मिली। जिसके बाद कई लोग उनसे मिलने आए। यहां तक कि कई लोगों ने उनके साथ फोटो भी खिंचवाई। अखबारों, टीवी में उनकी तस्वीरें कई बार आईं। लेकिन अब उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। बिशर का कहना है कि कोई भी उनकी माली हालत पर ध्यान नहीं देता। मुफ्फलिसी में जी रहे बिशर का कहना है कि दो हफ्ते पहले कुछ विदेशी लोग उनके पास आए थे और उनसे मिलकर उनपर रिसर्च करना चाहते थे, लेकिन उन्होंने इसके लिए मना कर दिया।

बिशर का कहना है कि लोग उनके पास सिर्फ अपना मतलब निकालने आते हैं, कई बार सेल्फी लेते हैं और फिर चले जाते हैं। बिशर का कहना है कि उम्र कम होने की वजह से आज उन्हें वृद्धा पेंशन योजना का लाभ भी नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि अपनी माली हालत के बारे प्रशासन को भी पिछले तीन सालों में कई बार अवगत कराया लेकिन वहां से कोई रिप्लाई नहीं आया है। पति की मृत्यु के बाद बेहद गरीबी में जी रही बिशर ने कहा कि उन्हें नाम और पहचान तो मिल गई लेकिन गरीबी से उन्हें निजात नहीं मिल सकी।

उन्होंने कहा कि उन्हें बीपीएल परिवार का दर्जा भी नहीं मिल सका है। बिशर के मुताबिक इस बारे में जब उन्होंने सरकारी अधिकारियों से बात की तो उनका कहना था कि आप अशिक्षित हैं और आपको इसकी तकनीकि पेंचीदगियों के बारे में नहीं पता। बहरहाल गरीबी में जिंदगी गुजार रही बेबस बिशर ने अपनी माली हालत को लेकर कहा है कि अगर सरकार ने उनके लिए कुछ नहीं किया तो जल्द ही उनके भूख से मरने की खबर भी सामने आएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एमपी: योजना के प्रचार में शिवराज सरकार ने एक दिन में फूंक दिए साढ़े 12 करोड़
2 हरियाणा: बेटियों का आरोप- नींद की गोलियां खिलाकर सालों तक बलात्‍कार करता रहा सौतेला पिता
3 ई-टिकट बीमा योजना से कंपनियों ने कमाया 37.14 करोड़ का प्रीमियम, सिर्फ 4.34 करोड़ दिया मुआवजा