ताज़ा खबर
 

गुड़गांव के सरकारी अस्पताल में मरीजों के हाल बेहाल

गुड़गांव में स्वास्थ्य सेवाओं का ऐसा बुरा हाल है। सरकारी अस्पताल का कुप्रबंधन देख कर मरीजों के जख्म और गहरे हो जाते हैं।

Author गुड़गांव | June 4, 2016 12:42 AM
patients suffering, facing problem, Gurgaon govt hospital, medicalइस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (File Photo)

गुड़गांव में स्वास्थ्य सेवाओं का ऐसा बुरा हाल है। सरकारी अस्पताल का कुप्रबंधन देख कर मरीजों के जख्म और गहरे हो जाते हैं। स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी का ढिंढोरा केंद्र सरकार भी पीट रही है और अपने-आपको प्रोग्रेसिव स्वास्थ्य मंत्री की इमेज में ढालने वाले अनिल विज भी वाहवाही करते नहीं थक रहे हैं। लेकिन प्रदेश की आर्थिक राजधानी गुड़गांव में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं। यहां आने वाला हर मरीज अपनी तकलीफ से ज्यादा यहां की व्यवस्थाओं और तंत्र से त्रस्त होता है।

कहने के लिए इस अस्पताल का करोड़ों का बजट है, लेकिन बुधवार को एक गंभीर मरीज की लाचारी और बेबसी देखकर ऐसा लगा कि जैसे यहां सब कुछ कागजों में हो रहा है। मरीज को तो न स्ट्रेचर मिला और न ही व्हील चेयर, ग्लूकोज की बोतल हाथ में पकड़ कर मरीज को परिजन ले जा रहे थे। बेड नहीं मिला तो उसे जमीन पर लिटा दिया। कैंसर वार्ड बंद कर दिया, अब आइसीयू की बारी प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज कैंसर रोगियों के लिए बेहतर तकनीक और इलाज को लेकर दावा कर रहे हैं। वहीं प्रदेश के एक मात्र नागरिक अस्पताल में चल रही कैंसर ओपीडी अब बंद हो गई है। कैंसर विशेषज्ञ डॉक्टर के इस्तीफा देने के बाद अब कैंसर मरीजों को अस्पताल से लौटाया जा रहा है। यहां 2007 में कैंसर वार्ड की शुरुआत हुई थी। बताया जा रहा है कि अब आइसीयू भी बंद होने की कगार पर पहुंच गया है।

आरटीआइ कार्यकर्ता अभय जैन के मुताबिक चमक.दमक वाली साइबर सिटी में सरकार स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करना ही नहीं चाहती क्योंकि ऐसा करने से फाइव स्टार अस्पतालों की कमाई पर असर पड़ेगा। पिछले कुछ साल में यहां निजी सेक्टर के अस्पतालों में 5000 बेड जुड़े हैं। लेकिन सरकारी अस्पतालों की दशा और खराब होती चली गई। सारी सुविधाएं कागजों में हैं।

रोजी-रोटी की तलाश में आए व्यक्ति की गोली मार कर हत्या: शीतला माता मंदिर से अतुल कटारिया चौक पर जाने वाले मार्ग पर मंगलवार रात बाइक सवार दो लोगों ने शामली, यूपी निवासी की गोली मार कर हत्या कर दी। हत्या के कारणों का अब तक पता नहीं चला है। पुलिस अज्ञात के खिलाफ हत्या और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जांच में जुटी है।
इस्सापुर, कैराना थाना, शामली निवासी कुम्मत (45) चार दिन पहले रोजी-रोटी की तलाश में अपने साथियों के पास गुड़गांव आया था। मंगलवार रात वह कहीं जा रहा था। सीआरपीएफ चौक के पास सड़क पार करते वक्त बाइक सवार दो युवकों ने उसे गोली मार दी। इसके बाद हमलावर फरार हो गए।

बताया गया है कि घटनास्थल भाजपा विधायक उमेश अग्रवाल के कार्यालय के कुछ ही दूरी पर है। पुलिस ने पास ही स्थित मुगल चिकन ढाबे के कर्मचारी मोहम्मद रजा के बयान पर अज्ञात के खिलाफ हत्या और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी इंस्पेक्टर जगदीश राय ने बताया कि सीन आॅफ क्राइम टीम ने मौके का मुआयना किया। घटना स्थल का डंप उठाया जा चुका है। पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज तलाश रही है।
पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। कुम्मत की मौत सीने में गोली लगने से हुई। पुलिस उसके साथियों से भी पूछताछ कर रही है।

Next Stories
1 आग से सुरक्षा में लापरवाही की चिनगारी
2 3 और भारतीय शहरों में मिलेगी एक बटन क्लिक करने पर उबर कैब की सुविधा
3 टेस्ट पिचों की गुणवत्ता को लेकर ICC की बढ़ी चिंता
ये पढ़ा क्या?
X