ताज़ा खबर
 

गिरफ्तार IAS अधिकारी की CBI हिरासत बढ़ी

दिल्ली की एक अदालत ने 2.2 लाख रुपए की रिश्वत कथित रूप से स्वीकार करने के मामले में गिरफ्तार आइएएस अधिकारी संजय प्रताप सिंह और उनके निजी सहायक रमेश कुमार को एक दिन की...
Author नई दिल्ली | December 12, 2015 00:51 am
जिन कंपनियों फर सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की है उनमें से कुछ केवल एक कमरे से ल रही थीं।

दिल्ली की एक अदालत ने 2.2 लाख रुपए की रिश्वत कथित रूप से स्वीकार करने के मामले में गिरफ्तार आइएएस अधिकारी संजय प्रताप सिंह और उनके निजी सहायक रमेश कुमार को एक दिन की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) की हिरासत को एक सफ्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है। 1984 बैच के एजीएमयूटी काडर के अधिकारी सिंह और उनके निजी सहायक रमेश कुमार को विशेष सीबीआइ जज अंजू बजाज चंदना के सामने पेश किया गया।

सीबीआइ ने दोनों आरोपियों की 13 दिन की और रिमांड मांगते हुए कहा कि अन्य लोगों के इस मामले से जुड़े होने के बारे में पता लगाने के लिए उनसे पूछताछ की जानी है। अदालत को बताया कि अधिकारी के लाकर से करीब 80 लाख का सोना मिला है। इससे पहले गुरुवार को खचाखच भरी अदालत में एजंसी ने कहा कि उनके घर और कार्यालय पर छापेमारी के दौरान जब्त दस्तावेजों से उनका सामना कराया जाना है।

एजंसी ने कहा कि पुलिस हिरासत के दौरान सिंह के बैंक लाकरों की भी जांच की जाएगी। छानबीन के दौरान जब्त संपत्ति कागजात के संबंध में भी पूछताछ की जानी है। जांच अधिकारी ने अदालत से कहा कि आरोपी ने शिकायतकर्ता से 2.2 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की और सिंह ने निर्देश दिया कि धन उनके निजी सहायक को दिया जाए।

सीबीआइ का आरोप है कि 2.2 लाख रुपए में से सिंह के निजी सहायक को 20 हजार रुपए मिले। हालांकि आरोपियों की ओर से पेश वकील ने सीबीआइ के पुलिस हिरासत के अनुरोध का विरोध किया। कहा कि एजंसी ने कथित आपत्तिजनक दस्तावेज पहले ही हासिल कर लिए हैं और हिरासत में पूछताछ की अब कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आरोपी जांच में सहयोग कर रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.