ताज़ा खबर
 

”मोदी, शाह में पर्रिकर को हटाने की हिम्‍मत नहीं, उन्‍होंने मुंह खोला तो गजब हो जाएगा”

पर्रिकर के सात महीने विभिन्न अस्पतालों में गुजरे हैं।

Author September 24, 2018 12:09 PM
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर

कांग्रेस की गोवा इकाई ने रविवार को आरोप लगाया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के शीर्ष नेताओं में यह हिम्मत नहीं कि वे खराब स्वास्थ्य के कारण काम करने से लाचार मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर से पद छोड़ देने के लिए कहें, क्योंकि पूर्व रक्षामंत्री के पास राफेल सौदे से जुड़े बहुत सारे तथ्य हैं। अगर नाराज होकर उन्होंने मुंह खोल दिया, तो गजब हो जाएगा। गोवा कांग्रेस के अध्यक्ष गिरीश चोडाणकर ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व पर यह आरोप तब लगाया, तब शाह ने एक ट्वीट कर बताया कि पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। पर्रिकर को पैंक्रियाटिक कैंसर है और गोवा, न्यूयॉर्क और मुंबई में इलाज कराने के बाद एक हफ्ते से दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं। उनके लगभग सात महीने विभिन्न अस्पतालों में गुजरे हैं।

चोडाणकर ने कहा, “पर्रिकर के पास राफेल डील से जुड़ी बहुत सारी जानकारियां हैं, क्योंकि सौदे के समय वही रक्षामंत्री थे। पर्रिकर इस्तीफा देने से इनकार कर चुके हैं और उन्हें इस्तीफा के लिए कहने की किसी नेता में हिम्मत नहीं है। कारण है राफेल डील, कारण है एक बड़ा घोटाला, जिसमें सीधे प्रधानमंत्री संलिप्त हैं। गोवा कांग्रेस प्रमुख ने पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान कहा, “मुझे लगता है, पर्रिकर अब उनका इस्तेमाल कर रहे हैं और कह रहे हैं कि अगर आप इस्तीफे के लिए कहेंगे तो मैं आपको राफेल डील में बेनकाब कर दूंगा। वे (शाह और मोदी) ब्लैकमेल किए जा रहे हैं।”

शाह ने ट्वीट किया है, “गोवा प्रदेश भाजपा की कोर टीम के साथ विमर्श के बाद निर्णय लिया गया कि गोवा के मुख्यमंत्री पर्रिकर विधायक दल के नेता बने रहेंगे। सरकार के मंत्रियों के विभागों में शीघ्र ही परिवर्तन होगा। चोडाणकर ने कहा कि अस्वस्थ मुख्यमंत्री को पद पर बनाए रखने के फैसले में ‘विशुद्ध अहंकार’ मात्र झलकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App