ताज़ा खबर
 

यहां नहीं कोई VIP! कोविड वॉर्ड में पोछा लगाते दिखे मंत्री, खुद भी हैं संक्रमित

71 साल के मिजो नेशनल फ्रंट के नेता दो दिन तक आईसीयू में भर्ती रहे थे, फिलहाल अस्पताल में उनकी पत्नी और बच्चे भी भर्ती हैं।

मिजोरम सरकार में ऊर्जा मंत्री आर ललजिरलियाना अस्पताल में खुद पोछा लगाते दिखे। (फोटो- ट्विटर/Anupam Bordoloi)

देश में कोरोनावायरस के बढ़ते केसों के बीच जहां आम आदमी को अस्पताल में बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर और जीवनरक्षक दवाएं तक मिलना मुश्किल है, वहीं वीआईपी लोगों के इलाज के लिए सभी बंदोबस्त किए गए हैं। हालांकि, इन सबके उलट नॉर्थईस्ट के नेता अधिकतर वीआईपी कल्चर से अलग देशवासियों के लिए उदाहरण पेश करते नजर आ जाते हैं। ऐसा ही एक नजारा मिजोरम के आइजॉल से सामने आया है। यहां ऊर्जा और विद्युत मंत्री को अस्पताल की फर्श पर पोछा लगाते देखा गया। बताया गया है कि मंत्री खुद यहां भर्ती हैं।

मंत्री आर. ललजिरलियाना ने पोछा लगाने का काम मेडिकल स्टाफ या अफसरों को शर्मिंदा कराने के लिए नहीं बल्कि नेता के तौर पर खुद की जिम्मेदारी समझते हुए किया। मंत्री ने बाद में कहा कि उन्होंने फर्श की सफाई का काम इसलिए किया, क्योंकि यह उनके लिए कुछ नया नहीं है और वे घर और अन्य जगहों पर भी सफाई पर ध्यान रखते हैं।

ललजिरलियाना के मुताबिक, पहले उन्होंने कमरा गंदा होने के बाद सफाईकर्मी को बुलाया। लेकिन जब वह नहीं आया और फोन पर जवाब नहीं दे पाया, तो उन्होंने खुद ही कोविड वॉर्ड में फर्श की सफाई कर ली। मंत्री ने बताया कि वे यह काम बाकियों को शिक्षित करने के लिए उदाहरण के तौर पर करना चाहते थे। उन्होंने कहा कि वे मंत्री के तौर पर खुद को दूसरों से ऊपर नहीं मानते।

बताया जाता है कि ललजिरलियाना ने पहले दिल्ली दौरे के दौरान मिजोरम हाउस पहुंचकर भी यहां फर्श की सफाई की थी। 71 साल के मिजो नेशनल फ्रंट के नेता के साथ फिलहाल अस्पताल में उनकी पत्नी और बच्चे भी भर्ती हैं। उन्हें 11 मई को कोरोना संक्रमित पाया गया था। आइसोलेशन में रखने के बाद उनकी तबियत कुछ बिगड़ी तो उन्हें जोरम मेडिकल कॉलेज ले जाया गया।

मंत्री को ऑक्सीजन में अचानक गिरावट के बाद दो दिन तक आईसीयू में भर्ती किया गया था। शुक्रवार को ही उन्हें कोविड वॉर्ड में शिफ्ट किया गया। उन्होंने बताया कि यहां डॉक्टर काफी अच्छा ख्याल रख रहे हैं और उन्हें किसी मंत्री की तरह विशेष और वीआईपी इलाज पसंद नहीं है। हालांकि, उन्होंने डॉक्टरों और नर्सों से मरीजों के प्रति नरम व्यवहार रखने की अपील की।

Next Stories
1 कोरोनाः दिल्ली में हर जिले में बने ऑक्सीजन सांद्रक बैंक, जरूरतमंद मरीजों के पास दो घंटे में पहुंचेगी ऑक्सीजन- CM
2 Lockdown in West Bengal: बंगाल में कोरोना का कोहराम, 30 मई तक संपूर्ण बंदी; ममता के छोटे भाई का निधन
3 कोरोना काल में BJP सांसद को VIP ट्रीटमेंट? दफ्तर में स्टाफ-समर्थकों को टीका मिलने का आरोप
ये पढ़ा क्या?
X