ताज़ा खबर
 

साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार 2015 घोषित, पाने वालों में साइरस मिस्‍त्री-के आर मीरा, लौटाए गए अवॉर्ड वापस नहीं लेगी अकादमी

साइरस मिस्‍त्री को उनके अंग्रेजी उपन्‍यास 'क्रॉनिकल ऑफ कॉर्प्‍स बेयरर' जबकि साहित्‍यकार के आर मीरा को उनके मलयाली उपन्‍यास 'आराचार' के लिए इस साल का साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार मिला है।

Author नई दिल्‍ली | December 17, 2015 8:12 PM

नाटक लेखक और उपन्‍यासकार साइरस मिस्‍त्री को उनके अंग्रेजी उपन्‍यास ‘क्रॉनिकल ऑफ कॉर्प्‍स बेयरर’ जबकि साहित्‍यकार के आर मीरा को उनके मलयाली उपन्‍यास ‘आराचार’ के लिए इस साल का साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार मिला है। साहित्‍य अकादमी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, इस साल 6 कविता संग्रह, 6 कहानी संग्रह, चार उपन्‍यास, दो निबंध संग्रह, दो नाटक, दो समालोचना और एक संस्‍मरण के लिए पुरस्‍कार की घोषणा की गई है। अकादमी के सेक्रेटरी के श्रीनिवासराव ने कहा, ”23 भारतीय भाषाओं का प्रतिनिधित्‍व करने वाले विशिष्‍ट ज्‍यूरी मेंबर्स ने इन अवॉडर्स की सिफारिश की। अकादमी के एग्‍जीक्‍यूटिव बोर्ड ने अध्‍यक्ष विश्‍वनाथ प्रसाद तिवारी की अगुआई में गुरुवार को बैठक की, जिसके बाद इन सिफारिशों को मंजूरी दे दी गई।”

अवॉर्ड वापस नहीं लेगी अकादमी
अवॉर्ड जीतने वालों को अगले साल 16 फरवरी को सम्‍मानित किया जाएगा। उन्‍हें एक पट्ट‍िका, शॉल और एक लाख रुपए देकर सम्‍मानित किया जाएगा। बंगाली भाषा का अवॉर्ड बाद में घोषि‍त किया जाएगा। अकादमी की ओर से लेखक श्रीकांत बाहुलकर को भाषा सम्‍मान दिए जाने का भी एलान किया गया है। बता दें कि अवॉर्ड्स का एलान ऐसे वक्‍त में किया गया है जब 39 साहित्‍यकारों ने देश में कथित तौर पर बढ़ती असहिष्‍णुता और साहित्‍य अकादमी के बोर्ड मेंबर एम एम कलबुर्गी की हत्‍या के विरोध में अपने अवॉर्ड वापस कर दिए थे। राव ने बताया, ”हमें 35 लेखकों की ओर से चेक मिले हैं, लेकिन अकादमी ने उन चेकों को डिपॉजिट न करने का फैसला किया है।” उन्‍होंने यह भी कहा कि अकादमी ने लौटाए गए अवॉर्ड्स वापस न लेने का फैसला किया है।

इस साल साहित्‍य अकादमी पाने वाले साहित्‍यकारों के नाम जानने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App