ताज़ा खबर
 

नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी सुरक्षा गार्ड को 15 साल कैद, 50 हजार जुर्माना

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद की एक अदालत ने पांच वर्ष पूर्व एक दलित नाबालिग बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म मामले में दोषी एटीएम के सुरक्षा गार्ड को 15 साल के कारावास एवं 50 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है।

Author मथुरा | August 22, 2018 3:18 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo credit- Indian express)

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद की एक अदालत ने पांच वर्ष पूर्व एक दलित नाबालिग बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म मामले में दोषी एटीएम के सुरक्षा गार्ड को 15 साल के कारावास एवं 50 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है। अपर जिला एवं सत्र न्यायालय (षष्टम) के सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता विनोद कुमार लवानियां ने बताया, ‘यह मामला वृन्दावन कोतवाली क्षेत्र का है जहां एक विधवा घरों में झाड़ू-पोछा करके जीवन-यापन करती है।’ उस महिला ने अदालत को बताया, ‘उन दिनों उसकी बेटी आठवीं कक्षा में पढ़ती थी। वह कभी-कभी उसके साथ काम पर आ जाती थी।

करीब पांच वर्ष पूर्व 10 दिसम्बर के दिन बच्ची जब सुबह शौच के लिए घर से बाहर गई तो वापस ही नहीं लौटी। काफी खोजबीन के बाद वह पास के मुहल्ले में एक खाली मकान में पड़ी मिली।’ होश में आने पर उसने रामकृष्ण मिशन अस्पताल के बाहर स्थित एटीएम पर तैनात एक सुरक्षा गार्ड ज्ञानवीर का नाम लिया। ज्ञानवीर मूलत: गांव गिजरौली, जिला हाथरस का निवासी था तथा उस दौरान वृन्दावन में ड्यूटी करते हुए परिक्रमा मार्ग स्थित गोपाल खार में रहता था। वही बच्ची को जबर्दस्ती उस खाली पड़े मकान में ले गया और इस घटना को अंजाम दिया।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15398 MRP ₹ 17999 -14%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

दोनों पक्षों की सुनवाई करने के बाद अपर जिला जज विवेकानन्द शरण त्रिपाठी ने ज्ञानवीर को दोषी करार देते हुए दुष्कर्म मामले में 15 साल का कारावास व 40 हजार का जुर्माना अदा करने के आदेश दिए। इसके साथ ही अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम के तहत भी 5 साल की कैद व 10 हजार का जुर्माना लगाया। एडीजीसी विनोद कुमार लवानियां ने बताया, ‘आरोपी को सुनाई गई दोनों सजा साथ चलेंगी। जुर्माना न भरने की स्थिति में डेढ़ साल की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। दोषी पर लगे जुर्माने की धनराशि पीड़िता को दिलाए जाने की मांग अदालत से की गई है।’ भाषा सं मनीषा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App