ताज़ा खबर
 

Mumbai: पीयूष गोयल ने ट्वीट किए दो वीडियो, यात्रियों की सुरक्षा सहित रेलवे पुलिस को मिला ये तोहफा

रेलवे स्टेशन पर अक्सर ऐसा होता है कि यात्री ट्रेन पर चढ़ रहे होते हैं और ट्रेन चल पड़ती है। ऐसे में यात्री हादसों का शिकार हो जाते हैं।

Author January 14, 2019 7:36 AM
ट्रायल की फोटो, फोटो सोर्स- ANI

रेलवे स्टेशन पर अक्सर ऐसा होता है कि यात्री ट्रेन पर चढ़ रहे होते हैं और ट्रेन चल पड़ती है। ऐसे में यात्री हादसों का शिकार हो जाते हैं। इन हादसों को रोकने के लिए वेस्टर्न रेलवे ने मुंबई लोकल ट्रेन को लेकर एक अनोखा कदम उठाया है। इसकी मदद से ऐसे होने वाले हादसों में कमी आ सकती है, जिससे यात्री सुरक्षित रहेंगे। इस तकनीक के तहत हर डिब्बे के दरवाजे पर एक नीले बत्ती लगी है तो ट्रेन के चलने का इशारा देगी।

क्या है ये तकनीक: केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने सोशल मीडिया पर एक वीडियो ट्वीट किया है। जिसमें सुरक्षा के एक नए पायदान पर ले जाया गया है। सुरक्षा के तहत हर डिब्बे के दरवाजे पर एक नीली बत्ती लगी है। वहीं वीडियो में नजर आ रहा है कि ट्रेन जैसे ही स्टार्ट होती है नीली बत्ती जलने लगती है। बत्ती के तीन चार बार जलने-बुझने (ब्लिंक) के बाद ट्रेन प्लेटफार्म से रवाना होती है। बता दें कि ये फिलहाल ट्रायल के तौर पर किया गया है और उम्मीद है कि इसके सफल परीक्षण के बाद इसे जल्द ही लागू कर दिया जाएगा।

पीयूष गोयल ने किया ट्वीट: इस वीडियो को ट्वीट करते हुए पीयूष गोयल ने लिखा- Safety First: मुम्बई में ट्रेन में चढ़ते यात्रियों के लिए कोच के गेट पर नीले रंग की लाइट लगाई जा रही है, जो यात्रियों को गाइड करेगी कि ट्रेन स्टार्ट हो गयी है, इससे अंत समय मे ट्रेन में चढ़ने से होने वाली दुर्घटनाओं पर रोक लगेगी।

रेलवे पुलिस को सौगात: मुम्बई में ट्रेन में चढ़ते यात्रियों के लिए कोच के गेट पर नीले रंग की लाइट के साथ ही पीयूष गोयल ने रेलवे पुलिस की सहूलियत के लिए भी एक कदम उठाया है। अपने एक और ट्वीट में वीडियो के साथ केन्द्रीय रेल मंत्री ने लिखा- मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर प्लेटफॉर्म सर्फिंग का सफल परीक्षण किया गया, यह भीड़ वाले प्लेटफॉर्म पर भी तेज गति से एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचना सुनिश्चित करेगा, तथा इसके उपयोग से रेलवे पुलिस बहुत कम समय में यात्रियों तक पहुंच सकेगी।

गौरतलब है कि इन दोनों ही कदमों से यात्रियों की सुरक्षा के लिए एक अग्रणी कदम माना जा रहा है। नीली लाइट से जहां यात्री सुरक्षित रहेंगे तो वहीं सर्फिंग की मदद से रेलवे पुलिस को स्टेशन पर कहीं भी पहुंचने में कम वक्त लगेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App