ताज़ा खबर
 

CBI नवनिर्वाचित निदेशक विवाद: कमलनाथ के मंत्री पर डीएसपी का पलटवार, कहा- ऋषि होना आसान नहीं

हाल ही में कमलनाथ सरकार के मंत्री गोविंद सिंह ने उन्हें इतिहास का सबसे कायर और बुजदिल डीजीपी बताया था। गोविंद सिंह के वार पर डीएसपी ने उन्हें कुंठित बताया है।

Author February 4, 2019 3:42 PM
सीबीआई के नवनिर्वाचित निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला, फोटो सोर्स- ANI

आज (सोमवार) से सीबीआई के नवनिर्वाचित निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने पदभार संभाल लिया है। ऐसे में इस पोस्ट को लेकर कांग्रेस का उन पर हमला जारी है। ऐसे में हाल ही में कमलनाथ सरकार के मंत्री गोविंद सिंह ने उन्हें इतिहास का सबसे कायर और बुजदिल डीजीपी बताया था। गोविंद सिंह के वार पर डीएसपी ने उन्हें कुंठित बताया है।

क्या बोले डीएसपी: नई दुनिया की रिपोर्ट के मुताबिक डीएसपी मदन मोहन समर ने सोशल मीडिया पर गोविंद सिंह की आलोचन की है। समर ने लिखा ऋषि होना आसान नहीं है। उनकी आलोचना करना एक मंत्री की व्यक्तिगत कुंठा प्रदर्शित करती है। किसी घटना के लिए जब सीएम, विभागीय मंत्री, मुख्य सचिव जिम्मेदार नहीं होता है तो डीजीपी भी नहीं होता है। गोविंद सिंह जब इससे पहले गृहमंत्री थे तब भी प्रदेश में कई अपराध हुए थे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 1998 में मुलताई में 22 किसानों की मौत का जिम्मेदार कौन था। मृतक किसानों में दलित भी थे और पिछड़े भी। लिहाजा जिम्मेदार पदों पर रहने वाले व्यक्ति को कुंठित नहीं होना चाहिए।

क्या बोले थे गोविंद सिंह: ऋषि कुमार शुक्ला पर हमला करते हुए गोविंद सिंह ने कहा था कि मध्य प्रदेश के इतिहास के सबसे बुजदिल कायर और अक्षम डीजीपी थे ऋषि। मुझे लगता था कि वो ग्वालियर-चंबल संभाग का शेर होगा, लेकिन वह शेर की खाल में भे……निकला। जो व्यक्ति प्रदेश नहीं चला सका, वह सीबीआई कैसे संभालेगा? ऋषि कुमार शुक्ला के डीजीपी रहने पर ही मध्य प्रदेश में जाति के नाम पर आंदोलन हुए। इसमें कई लोग मरे और कानून व्यवस्था चौपट हो गई थी।

कौन हैं डीएसपी मदन मोहन समर: बता दें कि मदन मोहर समर आज के राष्ट्रीय कवि भी हैं। हाल ही में वो लाल किला दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय कवि सम्मेलन में शिरकत भी कर चुके हैं। वहीं गौरतलब है कि जब ऋषि कुमार शुक्ला डीजीपी थे तब उनका कमलनाथ से विवाद भी सुर्खियों में रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App