ताज़ा खबर
 

मेवात गैंगरेप और मर्डर केस में मंत्री अनिल विज का बयान, इतने दिनों बाद क्यों आई याद?

पीड़ितों के इस दावे पर संज्ञान लेते हुए कि आरोपियों ने उससे गोमांस खाने के बारे में पूछा था, राष्ट्रीय महिला आयोग ने हरियाणा सरकार से कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है।

मेवात गैंगरेप और मर्डर केस में मंत्री अनिल विज का बयान, इतने दिनों बाद क्यों आई याद?

हरियाणा के मेवात जिले के गांव डिंगरहेड़ी में सामूहिक बलात्कार पीड़िताओं ने दिल्ली में मीडिया के सामने यह आरोप लगाया है कि उन्हें गोमांस खाने के शक पर निशाना बनाया गया। इस पर हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज ने तंज कसते हुए कहा है कि उन्हें इतने दिनों बाद ये बात याद क्यों आई? उनलोगों ने पहले जांच में ये बात क्यों नहीं बताई? इधर, पीड़िताओं के इस दावे पर संज्ञान लेते हुए कि आरोपियों ने उससे गोमांस खाने के बारे में पूछा था, राष्ट्रीय महिला आयोग ने हरियाणा सरकार से कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है। मेवात के पीड़ितों ने दिल्ली पहुंचकर हरियाणा पुलिस पर भी मामले में लीपापोती करने का आरोप लगाया है।

जेडीयू सांसद अली अनवर के घर पर पहुंचे 67 वर्षीय पीड़ित परिवार के मुखिया ने दिल्ली पहुंचकर पत्रकारों को आपबीती सुनाई। उन्होंने कहा, “हमें इंसाफ चाहिये। मेरे बेटे और बहू को मार दिया गया। बेटी दामाद के साथ दो नवासों को बुरी तरह जख्मी किया है और मेरी दो नातिनों के साथ बलात्कार हुआ है। पुलिस हमें मदद नहीं कर रही है। हमें इंसाफ चाहिये।”

मेवात में 24-25 अगस्त की रात को हुये हत्या और बलात्कार कांड में सीबीआई जांच का फैसला हरियाणा सरकार पहले ही कर चुकी है। चंडीगढ़ में उच्चस्तरीय बैठक में ये फैसला किया गया।

मेवात के इस परिवार के घर 24-25अगस्त को रात 12 बजे किये गये हमले में दो लोगों की हत्या कर दी गई और दो बच्चों समेत 4 लोग जख्मी भी हुये हैं। दो लड़कियों के साथ बलात्कार हुआ जिनमें से एक ने बयान दिया है कि “उन्होंने ये कहा कि तुम लोग गाय खाते हो। हमने कहा कि नहीं हम गाय नहीं खाते लेकिन वो बोले कि तुम गाय खाते हो इसलिये हम ये कर रहे हैं।”

Read Also: बकरीद पर हिंसक गौ रक्षकों और पुलिस रेड के कारण हरियाणा में बिरयानी की दुकानें बंद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App