ताज़ा खबर
 

पुरानी दिल्ली की तंग गलियों से गुजरेगी मेट्रो

दिल्ली मेट्रो के चौथे चरण के विस्तार में इंद्रलोक से इंद्रप्रस्थ तक जाने वाली मेट्रो पुरानी दिल्ली की तंग गलियों से होकर गुजरेगी।

दिल्ली मेट्रो। (File Pic)

दिल्ली मेट्रो के चौथे चरण के विस्तार में इंद्रलोक से इंद्रप्रस्थ तक जाने वाली मेट्रो पुरानी दिल्ली की तंग गलियों से होकर गुजरेगी। चौथे चरण की योजना में पुराने इलाके में कई किलोमीटर का मेट्रो विस्तार शामिल किया है। इसके निर्माण से पुरानी दिल्ली के कई इलाकों में आना-जाना बेहद आसान हो जाएगा। हालांकि मेट्रो का मानना है कि पुरानी दिल्ली में मेट्रो का निर्माण चुनौतीपूर्ण रहा है। इसे देखते हुए चौथे चरण में इंद्रलोक से इंद्रप्रस्थ तक करीब 12.58 किलोमीटर लंबा मेट्रो विस्तार करना सबसे मुश्किल काम होगा क्योंकि पुरानी दिल्ली का इलाका बेहद संकरा है और वहां की आबादी भी बेहद घनी है। निर्माण में मशीनों का आवागमन, बड़े टनल और निर्माण सामग्री पहुंचाना परिवहन की परेशानी खड़ा कर सकता है, लेकिन इन बाधाओं के बावजूद मेट्रो इस कॉरिडोर पर इंद्रलोक से लेकर दयाबस्ती, सराय रोहिल्ला, अजमल खान पार्क, नबी करीम, दिल्ली गेट और इंदिरा गांधी स्टेडियम तक ट्रेनों का विस्तार करेगी।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के एक अधिकारी ने अपने पहले के चरणों के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि मेट्रो के पहले चरण में चावड़ी बाजार स्टेशन का निर्माण हमारे लिए चुनौतीपूर्ण था क्योंकि यह इलाका पुरानी दिल्ली के घनी आबादी और संकरे रास्ते के बीच बसता है। वहां मेट्रो का ढांचागत विकास करना बेहद मुश्किल काम था, लेकिन पहले चरण में चावड़ी बाजार के निर्माण को पूरा किया गया।

उन्होंने बताया कि पुरानी दिल्ली इलाके के इस नए कॉरिडोर के मेट्रो स्टेशनों में से नबी करीम और नई दिल्ली को इंटरचेंज स्टेशन के तौर पर विकसित किया जाएगा। चौथे चरण के ही आरके आश्रम और जनकपुरी पश्चिम कॉरिडोर के स्टेशन के साथ लाइन-2 और एयरपोर्ट लाइन के स्टेशनों के साथ इंटरचेंज प्वाइंट बनेंगे। मेट्रो ने उम्मीद जताई है कि पुरानी दिल्ली में चौथे चरण के निर्माण के बाद अन्य इलाकों से पुरानी दिल्ली पहुंचना आसान हो जाएगा। खासतौर पर दिल्ली के पुराने इलाकों मेंं रहने वाले लोगों का जीवन आसान हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit