ताज़ा खबर
 

MP में पारा 46 पार, पुडुचेरी में बारिश के बाद चक्रवात की आशंका, वीकेंड पर दिल्ली में ऐसे मौसम की संभावना

मौसम विभाग के मुताबिक पुडुचेरी में बारिश के बाद चक्रवात कहर ढा सकता है। वहीं मध्य प्रदेश में गर्मी से हाल बेहाल है। प्रदेश के खरगोन में पारा 46 डिग्री सेल्सियस को भी पार कर गया।

weatherप्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान ‘फैनी’ का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में हलचल के कारण पुडुचेरी में भारी बारिश होने की संभावना है,  30 अप्रैल तक यहां चक्रवात आने की आशंका है। मौसम विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम बंगाल के साथ-साथ सिक्किम और हिमाचल प्रदेश के निचले इलाकों में तेज हवाएं चलने की संभावना है। वहीं उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में धूल भरी आंधी की आशंका जताई जा रही है। राजस्थान से आ रही आंधी के चलते दिल्ली वालों को भी गर्मी से थोड़ी राहत मिलने की संभावना है। हालांकि धूल भरी आंधी होने से दुर्घटनाओं की आशंका भी बढ़ गई है। मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर पूर्व के कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। हिमाचल प्रदेश में येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है।

मध्य प्रदेश में पारा 46 पारः मध्य प्रदेश में गर्म हवाएं तेज हो गई हैं। बीते 24 घंटों में राज्य में 46.5 डिग्री सेल्सियस के साथ खरगोन सबसे गर्म रहा है। फिलहाल यहां राहत मिलने के आसार कम ही हैं। खरगोन के अलावा धार और छिंदवाड़ा में भी मौसम का हाल बुरा है। ग्वालियर में भी पारा करीब 44 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

बिहार में भी धूप ने बढ़ाई तपिशः बिहार में राजधानी पटना समेत अधिकांश जगह अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा। तेज धूप के चलते तपिश और बढ़ गई। इसी तरह उत्तर प्रदेश में भी अधिकांश इलाकों में गर्मी के चलते हाल बेहाल है।

आपदा से निपटने की तैयारी जारीः पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने सतर्कता बरतते हुए राजस्व और आपदा प्रबंधन समेत विभिन्न विभागों के साथ बैठकर इस मामले पर चर्चा की। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि मौसम विभाग द्वारा किए गए अलर्ट के बाद आपदा से निपटने की तैयारी की जा रही है।’

National Hindi News, 27 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की अहम खबरों के लिए क्लिक करें

तूफान के आंध्र प्रदेश पहुंचने की उम्मीदः पूर्वी विषुवतीय हिंद महासागर और दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी से होते हुए पांच किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तूफान उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ा और चेन्नई से 1410 किमी दक्षिण-पूर्व में, त्रिंकोमाली (श्रीलंका) से 1060 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में और मछलीपट्टनम के दक्षिण-पूर्व में शाम 5.30 बजे तक सक्रिय रहा। बताया जा रहा है कि अगले 12 घंटों में चक्रवाती तूफान की संभावना ज्यादा है। इसके बाद इस तूफान के अगले 96 घंटों में श्रीलंकाई तट से उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और 30 अप्रैल शाम को उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों के पास पहुंचने की आशंका है।

Next Stories
1 RBI लाने जा रहा यह 20 रुपये का नया नोट, देखें कैसा होगा
2 AMU की स्टूडेंट और मर्डर-लूट के आरोपी का फेसबुक पर परवान चढ़ा प्यार, शादी के बाद मिलकर करने लगे अपराध!
3 Air Strike के चलते रद्द हुई थी उड़ान, वीजा खत्म होने से पाकिस्तान में फंसी भारत की बहू, सास ने सुषमा से मांगी मदद
ये पढ़ा क्या?
X