ताज़ा खबर
 

महबूबा बोलीं- आर्टिकल 370 हटा तो कश्मीर पर भारत का वैसा ही कब्जा होगा, जैसा इजरायल पर फिलिस्तीन का

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): अनुच्छेद 370 को लेकर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने फिर से बड़ा बयान दिया है। उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को सीधे संबोधित करते हुए यह बयान दिया।

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (फोटो- एएनआई)

Lok Sabha Election 2019 की सियासी जंग के बीच अनुच्छेद 370 को लेकर बयानबाजी लगातार जारी है। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। इस बार उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अमित शाह साहब! महबूबा मुफ्ती आपसे कह रही है, जिस दिन आप 370 को खत्म करोगे, उस दिन आप जम्मू-कश्मीर में महज एक पेशेवर बल बनकर रह जाओगे। अगर आपने 370 को खत्म किया तो जिस तरह फिलिस्तीन पर इजरायल का कब्जा होता है, उसी तरह जम्मू-कश्मीर में हिंदुस्तान का कब्जा होगा।’

नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी हमलावरः बता दें कि अनुच्छेद 35-ए पर वित्त मंत्री अरुण जेटली की टिप्पणी और केंद्रीय कैबिनेट की तरफ से अनुच्छेद 370 की समीक्षा के प्रस्ताव को मंजूरी के बाद से यह मसला गर्मा गया है। पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस लगातार इस मसले पर जुबानी हमले बोल रहे हैं। इससे पहले महबूबा मुफ्ती ने कहा था, ‘यदि भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर से जुड़े अनुच्छेद 370 को हटाया तो जम्मू-कश्मीर का हिंदुस्तान से रिश्ता टूट जाएगा। इसके बाद भारत को नए सिरे से रिश्ता बनाना होगा, फिर शर्तें भी 1947 की तरह नई होंगी।’

National Hindi News, 4 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

अब्दुल्ला बोले थे अलग प्रधानमंत्री बनाएंगेः नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी इस मसले पर टिप्पणी की थी। उन्होंने सदर-ए-रियासत और वजीरे आजम वाले पुराने सिस्टम को लाने की वकालत की थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने यह भी कहा दिया था कि यदि उनकी सरकार बनी तो जम्मू-कश्मीर का अलग प्रधानमंत्री होगा। उल्लेखनीय है कि अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए के तहत जम्मू-कश्मीर को विशेषाधिकार प्राप्त है। इसके तहत वहां के नागरिकों के कई अधिकार शेष भारत के नागरिकों के अधिकारों से थोड़े अलग हैं।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App