ताज़ा खबर
 

कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती बोलीं- मैंने स्कूल में पढ़ाई कम की, गोलगप्पे ज्यादा खाए

महबूबा मुफ्ती ने बताया कि उनके पेरेंट्स उन्हें डॉक्टर ही बनाना चाहते थे।

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (PTI Photo)

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने जम्मू में पोस्टग्रेजुएट मेडिकल कॉलेज की नीव रखते हुए अपने हाईस्कूल के दिनों को याद किया। एएनआई की रिपोर्ट में सीएम के हवाले से लिखा गया है, ‘आप लोगों ने सीरिएसली मेहनत की है, मैंने नहीं की। मैंने 12वीं क्लास में पढ़ाई कम की, गोलगप्पे ज्यादा खाए।’ सीएम वहां मौजूद मेडिकल स्टूडेंटों को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने छात्रों से कहा कि आपका प्रोफेशन बहुत ही महान है, मेरे पेरेट्ंस भी मुझे डॉक्टर बनाना चाहते थे।

अगस्त में महबूबा ने राज्य में पांच नए मेडिकल कॉलेज बनाए जाने की प्रक्रिया मे तेजी लाने की बात कही थी। पिछले महीने काम का रिव्यू करने के लिए बुलाई गई उच्च स्तर की बैठक में महबूबा ने कहा था, ‘बारामूला, अनंतनाग, राजौरी, डोडा और कठुआ में बनने वाले नए मेडिकल कॉलेज से ना केवल मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्टर को मजबूती मिलेगी, बल्कि इससे क्षेत्र में हेल्थकेयर और मेडिकल एजुकेशन की पढ़ाई को बढ़ावा मिलेगा। हर नए कॉलेज में 100 नई सीट की वजह से राज्य में मौजूदा एमबीबीएस सीटों में इजाफा होगा।’

Read Also: सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने साधा J&K CM पर निशाना, कहा- महबूबा मुफ्ती कुत्‍ते की पूंछ है, कभी नहीं सुधरेंगी

बता दें, कश्मीर में पैदा हुआ अशांति के बाद से महबूबा मुफ्ती की कार्यप्रणाली पर काफी सवाल उठा रहे थे। कश्मीर में आंतकी बुरहान वानी की मौत के बाद घाटी उबल पड़ी थी। कश्मीर में तब से विरोध-प्रदर्शन जारी हैं। सुरक्षाबलों के साथ झड़प में 70 से ज्यादा स्थानीय लोगों की मौत हो गई। कश्मीर में पैदा हुई इस स्थिति की वजह से पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार की काफी आलोचना हुई। शनिवार को भी कश्मीर में प्रदर्शन के दौरान फायरिंग में 2 लोगों की मौत हो गई और करीब 45 लोग घायल हो गए। शनिवार को जिन दो लोगों की मौत हुई है, वह शोपियां और अनंतनाग जिले में हुए है। शोपियां के टुकरो गांव में सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई। प्रदर्शन कर रहे लोगों को काबू में करने के लिए पुलिस को पैलेट गन और स्मोक शैल्स का इस्तेमाल करना पड़ा। इस हमले में 26 साल के सायर अहमद शेख की मौत हो गई है। फायरिंग के दौरान शेख के सिर पर टीयर स्मोक शैल लगा गया था, जिसके बाद शनिवार को उसकी मौत हो गई। वहीं अनंतनाग के बोटेंगो गांव में पुलिस और सुरक्षाबलों की फायरिंग में एक और नौजवान की मौत हो गई है।

Read Also: साध्वी प्राची का महबूबा मुफ्ती को चैलेंज, रगों में हिंदुस्तान का खून है तो कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाकर दिखाओ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App