ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी बहुत बड़े जादूगर हैं, इतने बड़े कि लोकतंत्र को भी गायब कर दें- राहुल गांधी का तंज

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मेघालय के जोवाई में बुधवार (21 फरवरी) को एक चुनावी रैली में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने बड़े जादूगर हैं कि लोकतंत्र को भी गायब कर दें। मेघालय में 27 फरवरी को चुनाव होने हैं।

राहुल गांधी और पीएम मोदी (PTI फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मेघालय के जोवाई में बुधवार (21 फरवरी) को एक चुनावी रैली में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने बड़े जादूगर हैं कि लोकतंत्र को भी गायब कर दें। मेघालय में 27 फरवरी को चुनाव होने हैं और राज्य में पिछले तीन बार से कांग्रेस की सरकार है, अब चौथी बार पार्टी मुकुल संगमा के तौर पर कांग्रेस के चौथे मुख्यमंत्री की उम्मीद कर रही है। राहुल गांधी ने रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा और उन्हें ‘जादूगर’ कहकर तंज कसा। राहुल गांधी पीएनबी घोटाले समेत कई घोटालों के आरोपियों का जिक्र कर रहे थे। राहुल गांधी ने घोटाले के आरोपियों के देश छोड़कर भागने के पीछे पीएम मोदी का हाथ होने का आरोप लगाया। पीटीआई के अनुसार रैली में राहुल गांधी ने कहा-”प्रधानमंत्री की छवि एक बड़े जादूगर की हो गई है जो अपनी उंगलियों के इशारों पर चीजों को प्रकट और गायब कर सकता है। वह अनायास ही कई चीजें प्रकट और गायब कर चुके हैं।”

उन्होंने कहा- ”विजय माल्या, ललित मोदी और नीरव मोदी जैसे घोटालेबाज जादुई तरीके से भारत से गायब होकर विदेशों में उन जगहों पर प्रकट हो गए जहां भारतीय कानून काम नहीं करता है। मोदी जी का जादू भारत से बहुत जल्द लोकतंत्र को भी गायब कर सकता है।” मेघालय में 60 सीटों के लिए मतदान होना है। राहुल गांधी ने विजय माल्या और नीरव मोदी जैसे घोटाले के आरोपियों का जिक्र करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार भ्रष्टाचार को हटा तो नहीं सकती है, लेकिन इसमें अपनी सक्रिय संलिप्तता जरूर कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी की सरकार युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने और किसानों को उनकी फसल के अच्छे दाम दिलाने में नाकाम रही।

राहुल गांधी ने कहा- ”चार साल पहले हमारे देश के प्रधानमंत्री ने देशवासियों को सपने बेचे, अच्छे दिन और हर एक खाते में 15 लाख रुपये, दो करोड़ रोजगार आदि… भारत के आदिवासियों ने सोचा कि उन्हें भी बराबरी से हिस्सा मिलेगा और उनकी जमीनें, परंपराएं और संस्कृति महफूज हो जाएगी। लेकिन जैसे ही यह सरकार अपने कार्यकाल के अंतिम दौर में जाती है, उम्मीदें, सुरक्षा और आर्थिक तरक्की देने के बजाय यह लोगों से केवल निराशा, बेरोजगारी, डर, नफरत और हिंसा की डील करती है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App