ताज़ा खबर
 

कर्मचारी के पास मिले 26,00,00 रुपए, कर रहा था फर्जी जन्म-मृत्यु पहचान पत्र बनाने का धंधा

उत्तरी एमसीडी के सिविल लाइन जोन कार्यालय में संयुक्त औचक तलाशी की थी क्योंकि यह आरोप था कि एमसीडी के कुछ अधिकारी दलालों के साथ मिलकर फर्जी जन्म प्रमाणपत्र और मृत्यु प्रमाणपत्र जारी कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | June 5, 2016 1:23 AM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

सीबीआइ ने दिल्ली के नगर निगमों द्वारा कथित रूप से जारी किए जा रहे फर्जी जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्रों की अपनी जांच के सिलसिले में यहां तलाशी ली। पद्म नगर और संगम विहार इलाके में तलाशी ली गई। सीबीआई प्रवक्ता ने कहा, ‘दिल्ली नगर निगम के तत्कालीन उप पंजीयक के आवासीय परिसरों से लगभग 26 लाख रुपए नकद बरामद किए गए हैं। तलाशी के दौरान जन्म प्रमाणपत्र और स्टैंप समेत साक्ष्य योग्य दस्तावेज भी बरामद किए गए’।

उन्होंने कहा कि एजंसी ने पहले उत्तरी एमसीडी के सिविल लाइन जोन कार्यालय में संयुक्त औचक तलाशी की थी क्योंकि यह आरोप था कि एमसीडी के कुछ अधिकारी दलालों के साथ मिलकर फर्जी जन्म प्रमाणपत्र और मृत्यु प्रमाणपत्र जारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उस दौरान कुछ दलालों के साथ मिलीभगत से एमसीडी अधिकारियों द्वारा बड़ी संख्या में प्रमाणपत्र जारी किए जाने की पुष्टि हुई थी। तलाशी के बाद 22 जून, 2015 को सीबीआइ ने मामला दर्ज किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App