ताज़ा खबर
 

सपा के बड़े नेता का एलान: मायावती पीएम और अखिलेश यादव होंगे यूपी सीएम के उम्मीदवार

रामगोविंद चौधरी ने जवाब देते हुए कहा कि मायावती तो असल में प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार हैं। इस पर कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता जगदंबिका पाल ने चुटकी लेते हुए कहा कि मायावती प्रधानमंत्री बनेंगी और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री होंगे।

रामगोविंद चौधरी से जब सपा-बसपा गठबंधन को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि मायावती तो असल में प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार हैं। इस पर कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता जगदंबिका पाल ने चुटकी लेते हुए कहा कि मायावती प्रधानमंत्री बनेंगी और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री होंगे। (image source-file photo)

हाल ही में हुए गोरखपुर और फूलपुर उप-चुनाव में सपा की जोरदार जीत से पार्टी में एक नई जान आ गई है। सपा-बसपा के गठबंधन को लेकर भी चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। इसी बीच दोनों पार्टियों के गठबंधन पर सपा के एक नेता ने बयान दिया है कि मायावती प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार हैं। लखनऊ में एक कार्यक्रम के दौरान सपा नेता रामगोविंद चौधरी से जब सपा-बसपा गठबंधन को लेकर सवाल किया गया कि बुआ-भतीजे की कैसे निभेगी? कौन होगा मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार, तो रामगोविंद चौधरी ने जवाब देते हुए कहा कि मायावती तो असल में प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार हैं। इस पर कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता जगदंबिका पाल ने चुटकी लेते हुए कहा कि मायावती प्रधानमंत्री बनेंगी और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री होंगे।

रामगोविंद चौधरी ने जगदंबिका पाल पर तंज कसते हुए कहा कि 2019 का चुनाव आते-आते जगदंबिका पाल जी हमारे गठबंधन में होंगे, जो पार्टी जीतती है, ये उसी में शामिल हो जाते हैं। इस पर पलटवार करते हुए जगदंबिका पाल ने कहा कि मैने राहुल गांधी से कम्यूनिकेशन गैप के चलते कांग्रेस को छोड़ा था और अब ताउम्र भाजपा में ही रहूंगा।

इससे पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सपा बसपा के गठबंधन को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि मुझे खुशी है कि हम बसपा के साथ आए, मैं कोशिश करूंगा कि लोहिया-अंबेडकर की विचारधारा वाली पार्टी देश को नई राह दिखाए। अखिलेश ने कहा कि बसपा-सपा का यह गठबंधन देश की राजनीति को नया आयाम देगा। भाजपा पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में अब बीजेपी का सूर्य अस्त होने लगा है, इन दो सीटों (गोरखपुर, फूलपुर) की हार ने यह साबित कर दिया है। जनता अब इन्हें नकार रही है। 2019 के लोकसभा चुनावों की बात करते हुए अखिलेश ने कहा कि हमें उम्मीद है कि देश की क्षेत्रीय पार्टियां मिलकर कोई ना कोई ऐसा रास्ता निकाल लेंगे, जिससे भाजपा को रोका जा सके। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ सपा-बसपा के गठबंधन को सौदेबाजी करार दे चुके हैं। योगी ने कहा कि वह इसके लिए तैयार हैं, लेकिन पहले मायावती और अखिलेश अपना नेता तैयार करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App