ताज़ा खबर
 

2019 में साथ नहीं आएंगे सपा-बसपा, मायावती बोलीं- कर्नाटक के अलावा कहीं कोई गठबंधन नहीं

मायावती ने कहा कि बसपा ने कर्नाटक के अलावा किसी अन्य राज्य में किसी भी पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए उप्र में सपा के साथ बसपा का गठबंधन होने की बात पूरी तरह से झूठी और आधारहीन है।

Author लखनऊ | Published on: March 5, 2018 5:30 PM
बसपा प्रमुख मायावती। (File Photo)

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने लखनऊ में रविवार को सपा-बसपा के बीच गठबंधन की बात को सिरे से खारिज किया है। मायावती ने स्पष्ट कहा है कि फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में उनकी पार्टी भाजपा को हराने वाले उम्मीदवार का समर्थन करेगी। रविवार की शाम मीडिया को दिए अपने बयान में मायावती ने कहा कि बसपा ने कर्नाटक के अलावा किसी अन्य राज्य में किसी भी पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए उप्र में सपा के साथ बसपा का गठबंधन होने की बात पूरी तरह से झूठी और आधारहीन है।

मायावती ने कहा कि यदि यहां गठबंधन होगा तो गुपचुप नहीं होगा, बल्कि खुलकर होगा और इसकी जानकारी सबसे पहले मीडिया को ही दी जाएगी। फूलपुर और गोरखपुर उपचुनाव में सपा को समर्थन की बात पर मायावती ने कहा कि इन दोनों सीटों पर बसपा ने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं। उन्होंने कहा, “मैंने कार्यकताओं को निर्देश दिया है कि वे भाजपा को हराने वाले उम्मीदवार के लिए मेहनत करें। चाहे सपा के हों या किसी दूसरी विपक्षी पार्टी के, लक्ष्य सिर्फ भाजपा को हराना है।”

उल्लेखनीय है कि हाल ही में मायावती ने देश व प्रदेशवासियों को रंगों के पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएं दी थी। साथ ही मोदी और योगी सरकार को नसीहत देते हुए कहा था कि लोगों के जीवन में खुशियां और मुस्कान लाने के लिए भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार को सही व ईमानदार प्रयास करने की जरूरत है। एक मार्च को जारी अपने शुभकामना संदेश में बसपा प्रमुख ने कहा था कि समस्त देशवासियों को होली त्योहार के शुभ अवसर पर दिली मुबारकबाद व शुभकामनाएं!

उन्होंने कहा था कि रंगों व उमंगों के त्योहार होली को सादगी, आपसी भाईचारे एवं सांप्रदायिक सौहार्द व सद्भावना के साथ मनाकर लोगों को होली की खुशियों को दोगुना करने का प्रयास करना चाहिए। मायावती ने इस मौके पर कहा था कि कुदरत से भी प्रार्थना है कि वह गरीबों, बेरोजगारों व अन्य अति-जरूरतमंदों के जीवन में खुशियां लाकर उनके जीवन में मुस्कान लाए। साथ ही कहा कि भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार को भी सही व ईमानदार प्रयास करने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 PMLA केस: लालू की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश को मिली जमानत
2 यूपी: घर में घुसकर महिला कांग्रेस नेता की गोली मारकर हत्या
3 छत्‍तीसगढ़: फसल चट कर गई बकरी तो किसान ने तीर-कमान से मार डाला, पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट के इंतजार में पुलिस
जस्‍ट नाउ
X