ताज़ा खबर
 

Delhi: शहीदों की पत्नियों को 7 लाख रुपए में फ्लैट देगा DDA, मांगे गए ऑनलाइन आवेदन

DDA News: यह सभी फ्लैट दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 34 और 35 व नरेला के सेक्टर जी-2 और जी-8 में बने हैं।

डीडीए फ्लैट्स DDA फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

DDA News: दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने देश के लिए शहीद हुए जवानों की पत्नियों के लिए एक बड़ी घोषणा की है। डीडीए ने दिल्ली में सस्ते फ्लैट की घोषणा करते हुए शहीद जवानों की पत्नियों से ऑनलाइन आवेदन मांगे हैं। बताया जा रहा है कि रोहिणी और नरेला इलाके में डीडीए वन बेडरूम फ्लैट उपलब्ध कराएगा, जिसकी कीमत सात लाख रुपए होगी। इस योजना को पहले आओ और पहले पाओ की तर्ज शुरू किया जाएगा क्योंकि इन छोटे फ्लैट की संख्या करीब एक हजार ही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डीडीए के एक अधिकारी ने कहा कि युद्ध के दौरान शहीद हुए जवानों की पत्नियों के साथ ही वीरता पुरस्कार पाने वाले, युद्ध में घायल होने वाले और अर्धसैनिक बलों के जवान भी इन फ्लैटों के लिए आवेदन कर सकते हैं। यह सभी फ्लैट दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 34 और 35 व नरेला के सेक्टर जी-2 और जी-8 में बने हैं। फ्लैट का साइज 33.2- 33.8 वर्गमीटर तक है। बताया जा रहा है कि एक बेडरूम वाला फ्लैट सात लाख रुपए में आवंटित किया जाएगा। गौरतलब है कि कंवर्जन चार्ज के रूप में 20,080 रुपए और लिए जाएंगे।

National Hindi News, 03 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बताया जा रहा है कि इस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए डीडीए ने दोनों इलाकों में अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारी की तैनाती की है।  साथ ही आवेदक को पीएम आवास योजना के तहत भी लाभ मिल सकता है। एक आंकड़े के मुताबिक, इस समय वन बेडरूम फ्लैट की अनुमानित कीमत करीब 15 लाख है जिस पर छूट देने के बाद डीडीए की ओर से कीमत 14 लाख रुपये रखी गई थी। लेकिन अब प्राधिकरण इसे लगभग आधी कीमत पर दे रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Triple Talaq: बाइक के लिए 50 हजार नहीं मिले तो पति ने वॉट्सऐप पर लिखा तलाक-तलाक-तलाक, नए कानून के तहत केस दर्ज
2 बेटे-बहू से परेशान था बुजुर्ग पत्रकार, सरकार के नाम की सारी संपत्ति, बोला- मेरी जमीन पर बने वृद्धाश्रम