ताज़ा खबर
 

यूपी: ससुराल वालों ने जबरन जेठ से कराया हलाला, महिला ने दर्ज कराया रेप का केस

उत्तर प्रदेश से हलाला के नाम पर रेप का नया मामला सामने आया है। इस केस में महिला ने अपने जेठ पर परिवार की रजामंदी से दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। ये दुष्कर्म महिला के साथ हलाला के नाम पर किया गया था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश से हलाला के नाम पर रेप का नया मामला सामने आया है। इस केस में महिला ने अपने जेठ पर परिवार की रजामंदी से दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। ये दुष्कर्म महिला के साथ हलाला के नाम पर किया गया था। महिला की शिकायत पर पुलिस ने जेठ समेत पांच ससुरालियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

मामला रामपुर जिले के स्वार का है। स्वार के रहने वाले अकील अहमद पर उसकी पत्नी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोप है कि अकील ने पहले उसे प्यार का झांसा दिया और काफी वक्त तक दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के बाद युवती गर्भवती हुई तो उसने निकाह से इंकार कर दिया। इस पर युवती के परिवार ने पंचायत बैठाई। पंचायत के दबाव में 27 फरवरी 2018 को दोनों का निकाह करवा दिया गया। हालांकि इस निकाह से शौहर अकील अहमद, जेठ हाफिज जलीस, दूसरा जेठ कफील, जेठानी अकलूम जहां, ससुर हाजी शराफत, नन्द नईम जहां खुश नहीं थे।

महिला का आरोप है कि ससुराल पक्ष के ​लोग लगातार उसे प्रताड़ित कर रहे थे। उन्हीं के कहने पर शौहर ने नौ मई 2018 को तीन बार तलाक बोलकर घर से निकालने की कोशिश की। पीड़िता ने इसे तलाक मानने से इंकार कर दिया। इसके बाद शौहर ने दोबारा निकाह करने का वादा करके उसे गर्भपात की दवा धोखे से पिला दी। गर्भपात के बाद शौहर के साथ ससुराल में ही रहने की जिद की तो शौहर घर से लापता हो गया।

इसके बाद ससुराल वालों ने पति के बड़े भाई हाफिज जलीस के साथ हलाला करने और फिर अकील से निकाह करवाने का वादा किया। महिला ने जब इससे इंकार कर दिया। तो ससुराल वालों ने जबरन 22 जून को जेठ को हलाला करने के लिए भेज दिया। आरोप है कि जेठ ने इस दौरान उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। जबकि महिला शौहर से निकाह का इंतजार करती रही। जब उसका शौहर घर वापस नहीं आया तो उसने पुलिस की शरण ली। रामपुर पुलिस ने पीड़िता की तहरीर के आधार पर पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App