ताज़ा खबर
 

मराठवाड़ा: बीड़ में कुएं से पानी निकालते समय एक की मौत

इस साल इलाके की जलापूर्ति के लिए 2,745 पानी के टैंकर लगाए गए हैं, जबकि पिछले साल इसी समय में जलापूर्ति के लिए मात्र 939 टैंकर ही लगाए गए थे।

Author मुंबई | April 22, 2016 12:34 AM
मुंबई के नजदीक पंच आबेर गांव में बच्चे अपने सिर पर पानी लादकर लाते हुए। (एपी फोटो)

मराठवाड़ा के सूखाग्रस्त जिले बीड़ में कुएं से पानी निकालते समय एक 11 वर्षीय लड़के की मौत हो गई। बीड़ जिले में दो दिनों के अंतराल में सूखे के कारण मौत की यह दूसरी घटना है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि केज तहसील में वीड़ा गांव का सचिन गोपीनाथ केदार अपने घर से करीब आधा किलोमीटर दूर एक कुएं से पानी निकाल रहा था कि तभी उसका पैर फिसल गया और वह कुएं में जा गिरा। कुएं में गिरने के कारण उसकी मौत हो गई।

इससे पहले मंगलवार को बीड़ जिले में ही एक 12 वर्षीय लड़की की लू लगने से उस समय मौत हो गई थी, जब वह करीब-करीब सूख चुके हैंडपंप से पानी निकालने का प्रयास कर रही थी। बीड़ के सबलखेड गांव की निवासी योगिता अशोक देसाई की पानी की कमी के कारण मौत हो गई थी। इससे पहले वह एक हैंडपंप से पांच बार पानी निकालने का प्रयास कर चुकी थी। उस दिन यहां का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस था। मराठवाड़ा में पानी की कमी के कारण परिवार का प्रत्येक सदस्य, विशेषकर बच्चे पानी के टैंक और हैंडपंप से इस तपती गर्मी में कई-कई बार पानी लाने को मजबूर हैं। इलाके के 11 प्रमुख जलाशयों में से आठ जलाशय सूखने के कगार पर पहुंच गए हैं।

इस साल इलाके की जलापूर्ति के लिए 2,745 पानी के टैंकर लगाए गए हैं, जबकि पिछले साल इसी समय में जलापूर्ति के लिए मात्र 939 टैंकर ही लगाए गए थे। औरंगाबाद के जिलाधिकारी पहले ही स्थानीय बु्रअरीज के लिए 20 फीसद और स्थानीय उद्योगों के लिए 10 फीसद पानी कटौती की घोषणा कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App