राजस्थान में कई मंत्रियों की होगी छुट्टी? माकन बोले- खुद देना चाहते हैं इस्तीफा

अजय माकन ने राज्य की अशोक गहलोत सरकार के प्रदर्शन पर मुहर लगाते हुए शुक्रवार को कहा कि सभी विधायक अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में हुए विकास कार्यों से खुश हैं।

ajay maken, congress
मीडिया को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता अजय माकन। (फोटो-पीटीआई)।

राजस्थान में कई मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है। दरअसल, कांग्रेस महासचिव व पार्टी के राजस्थान प्रभारी अजय माकन का कहना है कि राजस्थान के कुछ मंत्री ऐसे भी हैं जिन्होंने पद छोड़कर कांग्रेस संगठन के लिए काम करने की इच्छा जताई है। माकन ने कहा, ‘‘हमारे यहां ऐसे भी लोग हैं जो सरकारी ओहदों को छोड़कर संगठन के लिए काम करने को आतुर हैं। हमें ऐसे लागों पर गर्व हैं। सरकार द्वारा करवाए गए विकास कार्यों और सबकुछ छोड़कर संगठन के साथ काम करने को तैयार साथियों के साथ मिलकर 2023 में कांग्रेस सत्ता में वापसी करेगी।’’

अजय माकन ने राज्य की अशोक गहलोत सरकार के प्रदर्शन पर मुहर लगाते हुए शुक्रवार को कहा कि सभी विधायक अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में हुए विकास कार्यों से खुश हैं। माकन ने साथ ही कहा कि पार्टी का जोर अब सरकार व संगठन में बेहतर तालमेल पर है ताकि 2023 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सत्ता में वापसी कर सके। माकन ने पार्टी के प्रदेश कार्यालय के बाहर संवाददाताओं से कहा, ‘‘जब मैं विधायकों से बात कर रहा था तो प्रत्येक विधायक ने मुझे बताया कि उसके निर्वाचन क्षेत्र में किस तरह से अभूतपूर्व विकास कार्य हुए हैं। चाहे शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, सड़क हो, अस्पतालों की बात हो … एक के बाद एक विधायक आकर बता रहे थे। सभी विधायक संतुष्ट हैं और सब विकास की राह पर आगे बढ़ रहे हैं।’’

राज्य की अशोक गहलोत सरकार दिसंबर 2018 में सत्ता में आई और अपना लगभग आधा कार्यकाल पूरा कर चुकी है। उल्लेखनीय है कि गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल व बड़ी संख्या में राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के बीच माकन ने यहां कांग्रेस व समर्थक विधायकों से फीडबैक लेने का काम बृहस्पतिवार को पूरा कर लिया। वह अपनी रिपोर्ट नयी दिल्ली में पार्टी आलाकमान को सौंपेंगे। माकन ने शुक्रवार को कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में प्रदेश कार्यकारिणी से चर्चा की।

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले तीन दिन में मैंने राजस्थान में पार्टी और पार्टी समर्थक सभी विधायकों से बात की। 115 विधायकों से विधानसभा में चर्चा की। इसके अलावा मुख्यमंत्री गहलोत, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद​ सिंह डोटासरा, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी व पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, सबसे मैंने बात की।’’

पूर्व उपमुख्यमंत्री पायलट के लिए कोई भूमिका तय किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘सभी आलाकमान पर ​विश्वास रखते हैं, सबने यही कहा है कि जो आलाकमान तय करेगा, जो भूमिका तय करेगा वह सबको मंजूर होगा।’’ मंत्रिमंडल​ विस्तार व राजनीति नियुक्तियों के सवाल पर उन्होंने कहा ​कि हम लगातार कार्य मंत्रणा कर रहे हैं।

अपडेट