ताज़ा खबर
 

मोदी राज में झारखंड पकड़ेगा विकास की गति: पर्रीकर

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज में झारखंड को बहुत कुछ मिलेगा। विश्व की सबसे ज्यादा ऊंचाई पर स्थापित सबसे बड़े तिरंगे झंडे को यहां पहाड़ी मंदिर पर फहराने के बाद रक्षा मंत्री ने यह बात कही।

Author रांची | January 23, 2016 10:18 PM
रांची में झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर। (पीटीआई फोटो)

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज में झारखंड को बहुत कुछ मिलेगा। विश्व की सबसे ज्यादा ऊंचाई पर स्थापित सबसे बड़े तिरंगे झंडे को यहां पहाड़ी मंदिर पर फहराने के बाद रक्षा मंत्री ने यह बात कही।पर्रीकर ने कहा कि झारखंड देश की 50 फीसद खनिज संपदा का उत्पादन करने के बावजूद बहुत पिछड़ा हुआ है। लेकिन अब देश में नरेंद्र मोदी की सरकार है और इस राज में झारखंड को बहुत कुछ मिलेगा। इस अवसर पर रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय की भी आॅनलाइन आधारशिला रखते हुए उन्होंने कहा कि देश की तीसरी रक्षा यूनिवर्सिटी की स्थापना करने का झारखंड को सौभाग्य मिला है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि रक्षा क्षेत्र में और रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना में राज्य को जो भी जरूरत होगी, वह मदद केंद्र सरकार करेगी।

परमवीर चक्र विजेता एल्बर्ट एक्का की जन्मभूमि पर रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना पर खुशी जताते हुए उन्होंने कहा कि इससे उपयुक्त श्रद्धांजलि हो नहीं सकती है। रक्षा मंत्री ने कहा कि आज के साइबर युग में ताकत के साथ ज्ञान और बुद्धि का भी बहुत महत्त्व है। दुुनिया में साइबर हमले बढ़ने लगे हैं। इसे देखते हुए उससे निपटने का ज्ञान व इससे जुड़ी तकनीकी शिक्षा जरूरी हो गई है। उन्होंने झारखंड में दो साल के अंदर शुरू होने वाली रक्षा यूनिवर्सिटी में साइबर मामलों का विशेष तौर पर अध्ययन कराने को कहा। रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना रांची के निकट 25 एकड़ में की जाएगी। इसमें 300 से 500 छात्रों को दाखिला दिया जाएगा। उन्होंने दुनिया के सबसे ऊंचे और सबसे बड़े तिरंगे को फहराने पर गौरव होने की बात कहते हुए खुशी जताई कि 26 जनवरी को देश के गणतंत्र दिवस से पहले ही शनिवार को गणतंत्र दिवस जैसे उत्सव का माहौल हो गया।

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 119वीं वर्षगांठ पर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए पर्रीकर ने कहा कि वह देश को स्वावलंबी बनाना चाहते थे। आज उनके जन्मदिन पर विश्व का सबसे बड़ा तिरंगा फहरा कर झारखंड भी स्वाभिमान के साथ स्वावलंबन के साथ और तेजी से आगे बढ़ेगा। पर्रीकर ने कहा कि 15 साल पहले गठित हुए झारखंड राज्य की जितनी उन्नति होनी चाहिए थी उतनी नहीं हुई। लेकिन अब राज्य बहुत तेजी से विकास कर रहा है। उन्हें विश्वास है कि अगले कुछ सालों में यह देश के सबसे विकसित राज्यों की श्रेणी में शामिल हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App