ताज़ा खबर
 

मनोहर पर्रिकर पहले ऐसे रक्षामंत्री, जो खुद गए थे शहीदों को श्रद्धांजलि देने, कानपुर को बताया था वीरों की भूमि

देश के पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर ने बीते रविवार (17 मार्च) को अंतिम सांस ली। पर्रिकर कैंसर की समस्या से पीड़ित थे। रक्षामंत्री पद पर रहते हुए उन्होंंने दो बार कानपुर का दौरा किया था।

goa cm manohar parrikarगोवा सीएम मनोहर पर्रिकर फोटो सोर्सः स्थानीय

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। अपनी सादगी और सौम्य स्वभाव से क्षणभर में लोगों के मन में जगह बनाने वाले इस नेता को पक्ष और विपक्ष आदर के भाव से देखता था। मनोहर पर्रिकर रक्षामंत्री रहते हुए दो बार कानपुर आए थे। पहली बार जब वे कानपुर गए थे, तब उन्होंने 9 अप्रैल 2015 को नक्सली हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडर बीएस वर्मा के घर पहुंचकर उन्हें श्रद्धाजंलि दी थी। वहीं, उनके परिवार को सांत्वना देते हुए शहीद की मूर्ति लगवाने और गांव में बिजली पहुंचाने का वादा किया था।

इसके बाद मनोहर पर्रिकर शहीद अनमोल प्रताप के घर पहुंचे थे। अनमोल लेह लद्दाख के चीन बॉर्डर पर पेट्रोलिंग के दौरान दुर्घटना के शिकार हो गए थे। उन्होंने शहीद के परिवार को हर संभव मदद का भरोसा दिया था। उन्होंने कहा था कि कानपुर वीरों की भूमि है। यह शहर शहीदों के बलिदान का गवाह है। इस शहर ने देश की आजादी में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। कानपुर में पहली बार ऐसा हुआ था, जब किसी रक्षामंत्री ने शहीद के घर जाकर श्रद्धाजंलि दी हो।

Goa LIVE News Updates: जानें पल-पल के अपडेट्स

दूसरी बार योग दिवस पर किया कानपुर का दौराः इसके बाद दूसरी बार पर्रिकर योग दिवस के मौके पर कानपुर आए थे और सेना के साथ योग करके उसके महत्त्व बताए थे। पर्रिकर 21 जून 2016 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर कैंट स्थित गैरिसन ग्राउंड पहुंचे थे। जहां उन्होंने सेना के जवानों, पार्टी के नेताओं और मंत्रियों के साथ योग किया था। उन्होंने सेना के जवानों को योग के महत्व को समझाया था और तनाव से खुद को दूर रखने के तरीके सुझाए थे। उन्होंने कहा था कि कानपुर में बने हथियार सेना को दोगुनी ताकत देने का काम कर रहे हैं।

कैंसर से पीड़ित थे पर्रिकरः गोवा के मुख्यमंत्री लंबे समय से कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे, लेकिन वे अपने काम के प्रति इतने ईमानदार थे कि बीमारी के बावजूद काम करने के लिए कार्यालय पहुंच जाते थे। बीते रविवार (17 मार्च) को उन्होंने अंतिम सांस ली।

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई
Next Stories
1 UP: आजमगढ़ में पटाखे के गोदाम में लगी आग, जिंदा जल गए 5 लोग, 12 झुलसे
2 Priyanka Gandhi Ganga Yatra: वाराणसी के लिए रवाना हुई प्रियंका की गंगा यात्रा, लोगों से बोलीं- देश की हिफाजत आपके हाथों में
3 मनोहर पर्रिकर के निधन के 2 घंटे बाद कांग्रेस ने पेश की सरकार बनाने की दावेदारी, भाजपा नेता ने बताया ‘गिद्ध’
आज का राशिफल
X