ताज़ा खबर
 

मणिपुर: चार विधायकों ने छोड़ा कांग्रेस का साथ, थामा बीजेपी का दामन

मणिपुर में कांग्रेस के चार विधायकों ने पार्टी को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम लिया है।

मणिपुर में कांग्रेस के चार विधायकों ने पार्टी को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम लिया है। इसमें वाई सुरचरंद्र और नगाथम होकिम भी शामिल हैं। मणिपुर में इसी साल विधानसभा चुनाव हुए थे। कांग्रेस ने सबसे ज्यादा सीटें जीती थी लेकिन वह सरकार बनाने में असमर्थ रही थी। वहीं बीजेपी दूसरे नंबर की पार्टी होते हुए भी सरकार बनाने में कामयाब हुई थी। इसपर काफी विवाद भी हुआ था।

एन. बिरेन सिंह मणिपुर के मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने 20 मार्च को विधानसभा में अपना बहुमत साबित किया था। मणिपुर में बीजेपी ने पहली बार सरकार बनाई है। बीजेपी को कुल 32 विधयकों का समर्थन मिला है। वहीं बीजेपी ने ध्वनिमत से विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर दिया था। बीजेपी ने राज्य की 60 में से 21 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस को 28 सीटों पर जीत मिली थी। सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद कांग्रेस सरकार बनाने में असमर्थ रही है।

सरकार बनाने के लिए राज्य में 31 विधायकों की जरूरत होती है और बीजेपी ने बहुमत से एक विधायक ज्यादा वोट हासिल किया। वहीं पार्टी को सपोर्ट करने वाले दलों की बात करें तो एनपीएफ और नगा पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के चार-चार विधायकों ने बीजेपी को समर्थन दिया है। इसके अलावा, तृणमूल कांग्रेस और लोजपा के 1-1 विधायक और 1 निर्दलीय विधायक भी बीजेपी के साथ हैं। पूर्व फुटबॉल खिलाड़ी बिरेन सिंह ने मणिपुर के मुख्यमंत्री पद की शपथ 16 मार्च 2017 को ली थी।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App