scorecardresearch

चैटिंग के चक्कर में छह घंटे लेट हुई फ्लाइट, बॉयफ्रेंड को प्लेन से उतारा गया तो गर्लफ्रेंड भी बुरी फंसी

गर्लफ्रेंड से मोबाइल पर चैटिंग के चक्कर में इंडिगो की फ्लाइट 6 घंटे लेट हो गई। फ्लाइट मेंगलुरु से मुंबई के लिए उड़ान भरने वाली थी।

चैटिंग के चक्कर में छह घंटे लेट हुई फ्लाइट, बॉयफ्रेंड को प्लेन से उतारा गया तो गर्लफ्रेंड भी बुरी फंसी
इंडिगो विमान (प्रतीकात्मक फोटो)

मेंगलुरु से मुंबई के लिए उड़ान भरने वाली फ्लाइट रविवार (14 अगस्त, 2022) को छह घंटे लेट हो गई। फ्लाइट के लेट होने की मुख्य वजह थी कि एक महिला यात्री ने एक साथी यात्री के मोबाइल पर प्राप्त एक संदिग्ध टेक्स मैसेज के बारे में क्रू मेंबर को सूचना दी। सूत्रों ने कहा कि लड़की ने कथित तौर पर उस व्यक्ति को एक संदेश भेजा जिसमें लिखा था “तुम एक बमवर्षक हो।”

सूचना मिलने पर चालक दल ने एयर ट्रैफिक कंट्रोलर को सतर्क किया। जिसके बाद फ्लाइट में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया और तत्काल फ्लाइट में सवार सभी यात्रियों को उतरने के लिए कहा गया।

जिसके कारण रविवार शाम को इंडिगो की फ्लाइट ने देरी से उड़ान भरी। फ्लाइट के मुंबई रवान होने से पहले सभी यात्रियों के सामान की जांच की गई। जिससे किसी भी अनहोनी की आशंका को टाला जा सके।

जानकारी अनुसार व्यक्ति अपनी प्रेमिका के साथ चैट कर रहा था, जिसे उसी हवाई अड्डे से बेंगलुरु के लिए फ्लाइट पकड़नी थी। कई घंटों तक चली पूछताछ के कारण उस शख्स को प्लाइट में चढ़ने की अनुमति नहीं दी गई। वहीं उसकी प्रेमिका की भी फ्लाइट छूट गई, जो कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के लिए जाने वाली थी।

इस पूरे घटनाक्रम पर शहर के पुलिस आयुक्त एन शशि कुमार ने कहा कि देर रात तक मामले में कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई, क्योंकि यह सुरक्षा को लेकर दो दोस्तों के बीच उनकी आपसी बातचीत थी।

कोरियोग्राफर ने कॉल सेंटर पर फोन कर कहा था फ्लाइट में बम है

बता दें, ऐसा ही कुछ मामला 19 जून, साल 2018 में सामने आया था। तब IndiGo एयरलाइन को जयपुर से मुंबई जा रही फ्लाइट में बम होने का एक फोन कॉल IndiGo एयरलाइन के कॉल सेंटर पर आया था। यह कॉल सुबह करीब 5:30 बजे किसी अंजान व्यक्ति ने किया था।

तब इंडिगो एयरलाइन ने एक बयान में बताया था कि इंडिगो के कॉल सेंटर पर सुबह 5:30 बजे बम की जयपुर मुंबई फ्लाइट 6E 218 में बम का धमकी भरा कॉल आया था। इसके तुरंत बाद हरकत में आए एयरलाइन के अधिकारियों ने बम थ्रेट असेसमेंट कमिटी (BATC) को इसकी सूचना दी थी और सभी सिक्योरिटी प्रोटोकॉल फॉलो किए गए थे। संबंधित अधिकारियों ने जांच के बाद पाया था कि यह कॉल फर्जी था, वहीं क्लीयरेंस के बाद उड़ान परिचालन शुरू हो गया था।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट