ताज़ा खबर
 

गुजरात: गहने चुराने के आरोप में 50 साल के शख्‍स को भीड़ ने पेड़ से बांध कर पीटा, मौत

गुजरात में चोरी के आरोप में ग्रामीणों ने एक व्यक्ति की पेड़ से बांधकर बुरी तरह पिटाई की। इससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

Author September 24, 2018 11:24 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।(फाइल फोटो)

गुजरात में मॉब लिंचिंग का एक मामला सामने आया है। शनिवार (22 सितंबर) की रात बनसकंठा जिले के दंता के नजदीक हरिगढ़ गांव के रहने वाले लोगों ने चोरी के आरोप में एक 50 वर्षीय व्यक्ति की पेड़ से बांधकर जमकर पिटाई की। इससे उसकी मौत हो गई। मृतक कहां का रहने वाला था और वह कब आया था, इसका पता नहीं चल सका। पुलिस उसकी पहचान जानने की कोशिश कर रही है। इस घटना के बाद पांच लोगों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार लोगों में अमरत प्रजापति, शिवा प्रजापति, दशरथ प्रजापति, जयंती प्रजापति और बाबू प्रजापति शामिल हैं।

दंता पुलिस स्टेशन के सब इंस्पेक्टर बीके गोस्वामी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “बीती रात करीब 10 बजे के आसपास मेरे पार बाबू नाम के एक व्यक्ति का फोन आता है। बाबू ने बताया कि उनलोगों ने अमरत के घर में चोरी करते एक व्यक्ति को पकड़ा है। जब हम घटनास्थल पर पहुंचे तो देखा कि पेड़ से बांधकर पिटाई करने की वजह से एक आदमी की मौत हो गई थी। वहां 40 से 50 ग्रामीणों की भीड़ लगी हुई थी। इस घटना में संलिप्त पांच लोगों की हमने घटनास्थल पर ही पहचान की। उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। स्थानीय पुलिस मामले की जांच की रही है।”

पुलिस के अनुसार, अधेड़ व्यक्ति बरामदे के सहारे के अमरत के घर में घुसा था। आरोप है कि वह घर की वृद्ध महिला के चांदी के जेवर चुराने की कोशिश कर रहा था। महिला खटपट की आवाज सुनकर जाग गई और उसने शोर मचाया। महिला की आवाज सुनकर अमरत और घर के अन्य लोग जाग गए। उनलोगों ने अधेड़ व्यक्ति को पकड़ लिया। पेड़ में बांध उसकी जमकर पिटाई। पिटाई की वजह से उसकी मौत हो गई। इस पूरे मामले पर एसपी प्रदीप सेजुल कहते हैं, “मृतक चोर था। चोरी करते पकड़े जाने पर लोगों ने उसकी पिटाई की, जिससे मौत हो गई। हम उसकी पहचान जानने की कोशिश कर रहे हैं। मामले की तहकीकात जारी है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App