ताज़ा खबर
 

यूपी: मंदिर में युवक ने की आत्‍महत्‍या, परिवार बोला- बलि दी, याद में नया मंदिर बनाएंगे

इस मामले में पुलिस ने घटनास्थल से कई साक्ष्य जुटाए हैं। पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह मामला सुसाइड का ही लगता है। अनिरुद्ध के पिता स्वामी नाथ यादव ने अब तक इस मामले में किसी के भी खिलाफ केस दर्ज नहीं कराया है।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में एक शख्स ने मंदिर में आत्महत्या कर ली। युवक के आत्महत्या करने की पुष्टि इलाके की पुलिस ने की है। पुलिस ने कहा है कि बीते सोमवार को 20 साल के युवक अनिरुद्ध यादव ने उटवन गांव में स्थित दुर्गा माता के मंदिर में आत्महत्या कर ली। अनिरुद्ध की मौत के बाद अब उसके परिजनों और गांव वालों का कहना है कि अनिरुद्ध ने अपनी बलि दी है। गांव वालों के मुताबिक अनिरुद्ध एक धार्मिक इंसान था। वो अपना ज्यादातर समय मंदिर में पूजा-पाठ में ही गुजारता था। अनिरुद्ध की दादी का कहना है कि उनके पोते ने मंदिर में अपनी बलि दी है। अनिरुद्ध के परिजनों के मुताबिक उसने अपनी जान भगवान को खुश करने के लिए दिया है।

अनिरुद्ध की मौत के बाद अब गांव वाले और उसके घर वाले उसकी याद में यहां एक मंदिर की स्थापना करना चाहते हैं। इधर इलाके के एसपी वीपी श्रीवास्तव ने कहा है कि अनिरुद्ध यादव स्थानीय कॉलेज में बीए का छात्र था। सोमवार की अहले सुबह करीब 3 बजे मंदिर में उसकी लाश मिली है। उसकी गर्दन पर किसी तेज धार वाले हथियार से काटने के निशान थे। अनिरुद्ध के शव के पास से पुलिस ने एक बड़ा चाकू भी बरामद किया है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 8 64 GB Silver
    ₹ 60399 MRP ₹ 64000 -6%
    ₹7000 Cashback
  • ARYA Z4 SSP5, 8 GB (Gold)
    ₹ 3799 MRP ₹ 5699 -33%
    ₹380 Cashback

इस मामले में पुलिस ने घटनास्थल से कई साक्ष्य जुटाए हैं। पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह मामला सुसाइड का ही लगता है। अनिरुद्ध के पिता स्वामी नाथ यादव ने अब तक इस मामले में किसी के भी खिलाफ केस दर्ज नहीं कराया है। इलाके के एसपी के मुताबिक अनिरुद्ध का परिवार अनिरुद्ध के बलिदान देने की बात कह रहा है। परिवार वालों ने अनिरुद्ध का शरीर भी पोस्टमार्टम के लिए पुलिस को देने से इनकार कर दिया है। फिलहाल खबर लिखे जाने तक इस मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App