ताज़ा खबर
 

अमित शाह ने कहा- ममता बनर्जी को सता रहा बीजेपी का डर

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि वह 'भाजपा के डर' से पीड़ित है।

Author नई दिल्ली | April 26, 2017 6:28 PM
तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर अमित शाह निशाना

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि वह ‘भाजपा के डर’ से पीड़ित है। शाह ने कहा कि उनके (ममता) द्वारा लगातार भाजपा की आलोचना पार्टी के बंगाल में उदय का संकेत है। शाह ने संवाददाताओं से कहा, “ममता बनर्जी भाजपा से डरी हुई हैं। उन्हें हर जगह भाजपा दिखाई दे रही है। यह पूछे जाने पर तृणमूल के नेता कह रहे हैं कि भाजपा 2014 की दोनों सीटों पर अगले आम चुनाव में हार जाएगी? शाह ने कहा, “इस पर फैसला जनता करेगी। मुझे खुशी है कि तृणमूल कांग्रेस भाजपा को स्वीकार कर रही है। वे इससे पहले सिर्फ कांग्रेस और वाम दलों पर हमला करते थे।”

उन्होंने कहा, “हाल में जिस तरह से ममतादी भाजपा की आलोचना कर रही हैं, यह वाम दलों के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व मणिपुर में सफलता के बाद भाजपा नेतृत्व ने नारा दिया है कि इबार बंगाल (इस बार बंगाल) और इस संदेश के साथ पूरे राज्य में पहुंचा जाएगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा राज्य के खोए गौरव को वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध है, और यदि पार्टी सत्ता में आती है तो बांग्लादेश से घुसपैठ रोकने के लिए सीमा सील की जाएगी।

अमित शाह ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सुझाव दिया कि यदि ‘वह बंगाल के लोगों की बात सुनेंगी’ जिसकी वह मांग कर रहे हैं तो ‘अच्छी स्थिति में रहेंगी। ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बांग्लादेश सीमा से जाली नोटों को रोकने के लिए कदम नहीं उठा रही है।

नारदा स्टिंग मामले पर प्रश्न के जवाब में शाह ने कहा, “तृणमूल के नेता वीडियो फूटेज में रिश्वत लेते दिख रहे हैं। यह आरोप साक्ष्य पर आधारित है, यह कोई बयान नहीं है। राज्य में तुष्टिकरण की राजनीति की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा,” मेरा मानना है कि बंगाल में सत्ता सांप्रदायिक रूप से संचालित हो रही है, जिस वजह से संघर्ष के मामले बढ़े हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App