ताज़ा खबर
 

मोदी-शाह से मुलाकात के 2 दिन बाद ही बदले ममता के तेवर, बोलीं- NRC के लिए BJP को पहले मुझसे पार पाना होगा

Mamata Banerjee, West Bengal NRC: ममता बनर्जी ने कहा कि जो लोग कह रहे हैं कि पश्चिम बंगाल में एनआरसी लागू किया जाएगा, वे केवल लोगों को डराने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसा कुछ नहीं होगा।

Author कोलकाता | Updated: September 21, 2019 9:00 AM
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

NRC West Bengal: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)ने राज्य के लोगों को आश्वासन दिया कि प्रदेश में एनआरसी (NRC) के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी और यदि भगवा पार्टी लोगों को छूने का प्रयास करती है तो पहले पार्टी को उनसे पार पाना होगा। ममता ने लोगों से यह सुनिश्चित करने का आग्रह कि उनके नाम मतदाता सूची में हैं। उन्होंने भाजपा के स्थानीय नेताओं पर आरोप लगाया कि वे राज्य में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लागू करने की संभावना को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं।

दिल्ली से लौटते ही कही यह बात: ममता ने शुक्रवार शाम में नई दिल्ली से लौटने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं पश्चिम बंगाल के लोगों को आश्वस्त करती हूं कि अगर आपको मुझ पर भरोसा है तो चिंता नहीं करें। किसी को भी पश्चिम बंगाल नहीं छोड़ना पड़ेगा। आप जैसे इतने वर्षों से रहते आ रहे हैं, वैसे ही आप यहां रहते रहेंगे। अगर वे (भाजपा) आपको छूना चाहते हैं तो उन्हें पहले ममता बनर्जी से पार पाना होगा।’’ तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने जोर दिया कि एनआरसी असम के लिए है और वह राज्य के लोगों की परेशानियों के बारे में गृह मंत्रालय को सूचित करने के लिए नयी दिल्ली गयी थीं।

National Hindi News, 21 September 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

 ममता का बयान: सीएम ने कहा, ‘‘मुझे संदेह है कि क्या यह देश में कहीं और लागू हो पाएगा। हमारी तरह बिहार ने भी पहले ही कह दिया है कि वे इसे लागू नहीं करेंगे।’’ ममता ने आगे कहा, ‘‘जो लोग कह रहे हैं कि पश्चिम बंगाल में एनआरसी लागू किया जाएगा, वे केवल लोगों को डराने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ स्थानीय भाजपा नेता इस तरह की अफवाहें फैला रहे हैं ,उन्होंने दावा किया कि यह भाजपा का एक राजनीतिक हथियार है।

लोगों से की यह अपील: ममता ने कहा, ‘‘मैं आपसे केवल एक अनुरोध करूंगी कि आप मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराएं। मतदाता सूची के लिए नवीनीकरण अभियान चल रहा है। इसके अलावा कुछ नहीं करना है।’’ इसके बाद उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सुना है कि एक व्यक्ति ने जलपाईगुड़ी में आत्महत्या कर ली और दूसरे की बालुरघाट में डिजिटल राशन कार्ड के लिए कतार में इंतजार करते हुए मौत हो गई। हम दोनों परिवारों को 2 लाख रुपए का मुआवजा देंगे, क्योंकि एनआरसी की चिंता करते हुए उनकी मौत हो गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Mehbooba Mufti की बेटी ने पूछा- PM मोदी अपनी मां से मिल सकते हैं तो हम क्यों नहीं, कहा- आजादी चाहते हैं कश्मीरी
2 First Aid बॉक्स में कंडोम रखकर घूम रहे OLA-UBER के कैब ड्राइवर, चालान है वजह या कुछ और?
3 Maharashtra Assembly Election 2019: शरद पवार ने दिया विवादित बयान, कहा- सिर्फ पुलवामा जैसा हमला बदल सकता है लोगों की सोच