ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र सरकार पर भड़की कांग्रेस, कहा- ऐलान कर दो कि किसानों को मंत्रालय में नहीं घुसना चाहिए

विखे पाटिल ने व्यंग्य कसा, ‘‘यह सरकार अपनी शिकायत लेकर उसके पास आने वाले किसानों को गिरफ्तार कर उनसे मारपीट करती है।

Author May 21, 2017 8:28 PM
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (File Photo)

महाराष्ट्र में विपक्षी कांग्रेस ने रविवार (21 मई) को भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर आरोप लगाया कि वह अपनी समस्या लेकर आने वाले किसानों का उत्पीड़न कर उनसे बदसलूकी करती है। मुख्यमंत्री फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधते हुये नेता विपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा कि अगर वह किसानों की समस्या हल नहीं कर सकती तो उसे किसानों के राज्य सचिवालय ‘मंत्रालय’ में प्रवेश पर पाबंदी लगा देनी चाहिये।

उन्होंने यह आलोचनात्मक टिप्पणी निचले सदन में एक चर्चा में भाग लेते हुये कही। इससे पहले शिवसेना के अजय चौधरी ने सदन में कहा कि विजय जाधव नाम का एक किसान अपने जैसे दूसरे किसानों के साथ हो रहे अन्याय को लेकर मुंबई में प्रदर्शन कर रहा था और उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

विखे पाटिल ने व्यंग्य कसा, ‘‘यह सरकार अपनी शिकायत लेकर उसके पास आने वाले किसानों को गिरफ्तार कर उनसे मारपीट करती है। यह ऐलान ही क्यों नहीं कर देते कि किसानों को मंत्रालय में नहीं घुसना चाहिये।’’

वहीं विपक्षी कांग्रेस और राकांपा ने एक जुलाई को राज्य मतदाता दिवस मनाने के महाराष्ट्र सरकार के फैसले का विरोध करते हुए कहा कि इसका उद्देश्य पूर्व मुख्यमंत्री वसंतराव नायक की जयंती के महत्व को कमतर करना है जो उसी दिन पड़ती है। नायक की जयंती को कृषि दिवस के तौर पर मनाया जाता है और महाराष्ट्र में उस हफ्ते को कृषि सप्ताह के रूप में मनाया जाता है। दिवंगत नेता को राज्य में हरित क्रांति का जनक माना जाता है। वह 1963 से 1975 तक मुख्यमंत्री रहे।

विपक्षी दलों की आपत्तियों पर सदन के नेता चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि एक जुलाई को राज्य मतदाता दिवस तय करने में सरकार की भूमिका थी क्योंकि इसका निर्णय राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने किया है। उन्होंने कहा कि सरकार चुनाव आयोग से आग्रह करेगी कि निर्णय को वापस लिया जाए।

विधान परिषद् में मुद्दे को उठाते हुए विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने कहा कि राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग की तरफ से जारी सरकारी प्रस्ताव में कहा गया कि राज्य में एक जुलाई को मतदाता दिवस मनाया जाएगा। मुंडे ने कहा, ‘‘एक जुलाई ही क्यों और दो जुलाई अथवा कोई अन्य दिवस क्यों नहीं? यह दर्शाता है कि सरकार पूर्व मुख्यमंत्री वसंतराव नायक के महत्व को कम करना चाहती है।’’

कांग्रेस सदस्य हरीभाऊ राठौड़ ने कहा कि भारत के निर्वाचन आयोग ने 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस घोषित कर रखा है।

देखिए वीडियो - मुंबई: एक लीटर पेट्रोल पर 153 फीसदी टैक्स लगाती है सरकार, जानिए क्या है असली कीमत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App