ताज़ा खबर
 

एंटीलिया केस में NCP-शिवसेना के कई नेता शामिल, डिबेट में संगीत रागी का दावा, परमबीर का किया समर्थन

बोले, "क्या शरद पवार जिस तरह उनको बचाने के लिए आगे आए हैं, उससे ऐसा नहीं लगता कि वे भी इस षडयंत्र का हिस्सा हैं। इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए।"

antilia case, mumbai police, ncpमहाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख और मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह। (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस फाइल)

देश के बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के बंगले एंटीलिया के बाहर विस्फोटकों के साथ महाराष्ट्र पुलिस के एक अधिकारी के मिलने और राज्य सरकार के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार का केस दिन पर दिन गंभीर होता जा रहा है। इसको लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार हमलावर हो रहा है। मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के लिखित पत्र के बाद भाजपा नेता देवेंद्र फडनवीस मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और महाराष्ट्र सरकार के कई मंत्रियों के खिलाफ मामले में शामिल होने का आरोप लगा रहे हैं।

इसको लेकर टीवी चैनल रिपब्लिक भारत के पांच का प्रहार कार्यक्रम में एंकर ऐश्वर्य कपूर के साथ डिबेट के दौरान राजनीतिक विश्लेषक संगीत रागी ने कहा कि एंटीलिया केस की जड़ें सिर्फ पुलिस तक नहीं बल्कि कई नेता भी इस षड्यंत्र का हिस्सा है, इस मामले की जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा, “केस की गुत्थी जिस तरह उलझ रही है, उससे मुझे लगता है सिर्फ पुलिस अधिकारियों तक नहीं, बल्कि इसमें शरद पवार की पार्टी के कई बड़े-बड़े नेता, शिव सेना के नेता, कांग्रेस के नेता शामिल हैं।”

वे बोले, “क्या शरद पवार जिस तरह उनको बचाने के लिए आगे आए हैं, उससे ऐसा नहीं लगता कि वे भी इस षडयंत्र का हिस्सा हैं। इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए।”

उन्होंने कहा, “यदि कोई पुलिस अधिकारी लिखित में ऐसे आरोप लगाता है तो वह जानता है कि उसके पास साक्ष्य है, प्रमाण है। वह अच्छी तरह जानता है कि वह जान की बाजी लगा रहा है। अगर वह गलत हुआ तो सिर्फ अपनी नौकरी ही नहीं गंवाएगा, बल्कि 30-32 साल वह जो कुछ पुलिस विभाग की नौकरी में उसने दिया है, वह सब खत्म हो जाएगा।”

उन्होंने मांग की कि पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराकर सच्चाई का पता लगाया जाए। यह गंभीर मामला है। कहा मामले में राज्य के मंत्री के खिलाफ सीधे वसूली का आरोप लगाया गया है।

उन्होंने कहा कि इतना बड़ा आरोप लगाने वाला वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बिना सबूत के ऐसे आरोप नहीं लगाएगा। उन्होंने पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के आरोपों का पूरी तरह समर्थन किया।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X