ताज़ा खबर
 

TRP घोटालाः मुंबई पलिस ने फाइल की 1800 पेज की चार्जशीट, आरोपियों में अर्नब गोस्वामी का भी नाम

टीआरपी घोटाला पिछले साल तब सामने आया जब बीएआरसी ने हंसा रिसर्च ग्रुप के जरिए शिकायत दर्ज कराई कि कुछ टीवी चैनल टीआरपी नंबरों में हेराफेरी कर रहे हैं।

रिपब्लिक टीवी के संस्थापक और प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी। (फाइल फोटो)

मुंबई पुलिस ने मंगलवार को टेलीविज़न रेटिंग पॉइंट्स (टीआरपी) घोटाला मामले में चार्जशीट दाखिल कर रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को भी आरोपी बनाया है। लाइव लॉ की रिपोर्ट के अनुसार, गोस्वामी और एआरजी आउटलियर मीडिया के चार अन्य, जो रिपब्लिक टीवी के मालिक हैं – सीओओ प्रिया मुखर्जी, शिवेंदु मुलेकर और शिव सुंदरम – को 1800-पृष्ठ के दूसरे पूरक आरोपपत्र में आरोपी के रूप में नामित किया गया है।

मामले में प्राथमिकी नौ महीने पहले मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह द्वारा चैनल को घोटाले में शामिल किए जाने के बाद दर्ज की गई थी। 8 अक्टूबर, 2020 को सिंह ने कहा था कि एक टीआरपी रैकेट का भंडाफोड़ किया गया था, जिसमें रिपब्लिक टीवी, बॉक्स सिनेमा और फैक्ट मराठी शामिल थे। उनके अनुसार, चैनल अपने दर्शकों की संख्या बढ़ाने के लिए ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बीएआरसी) के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) पार्थो दासगुप्ता को कथित तौर पर रिश्वत देकर टीआरपी में हेरफेर करवा रहा था।

टीआरपी घोटाला पिछले साल तब सामने आया जब बीएआरसी ने हंसा रिसर्च ग्रुप के जरिए शिकायत दर्ज कराई कि कुछ टीवी चैनल टीआरपी नंबरों में हेराफेरी कर रहे हैं। मुंबई पुलिस ने इस मामले में बीएआरसी के पूर्व सीओओ समेत 13 लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले में इसने हंसा रिसर्च ग्रुप के पूर्व अधिकारियों, न्यूज चैनलों के मालिकों और रिपब्लिक मीडिया के एक कर्मचारी – सहायक उपाध्यक्ष (वितरण) घनश्याम सिंह सहित 12 लोगों को चार्जशीट किया है। उन पर धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और सबूत नष्ट करने का आरोप लगाया गया है।

प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने मंगलवार को कहा कि उसने फिल्म उद्योग के खिलाफ कथित “गैरजिम्मेदाराना, अपमानजनक और मानहानि करने वाली टिप्पणी” से संबंधित अपने दीवानी मुकदमे को अंग्रेजी समाचार चैनल टाइम्स नाऊ के साथ सुलझा लिया है।

गिल्ड और टाइम्स नाऊ ने एक संयुक्त बयान में कहा कि चैनल ‘केबल टेलीविजन नेटवर्क्स रूल्स’ के तहत कार्यक्रम संहिता के प्रावधानों का अनुपालन करने के लिए सहमत हो गया है।

गौरतलब है कि पिछले साल चार फिल्म उद्योग संगठनों और 34 निर्माताओं ने एक याचिका दायर कर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाऊ को हिन्दी फिल्म उद्योग के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी करने तथा विभिन्न मुद्दों पर उसके (फिल्म उद्योग के) लोगों के खिलाफ ‘मीडिया ट्रायल’ करने से रोकने की मांग की थी।

Next Stories
1 एंटीलिया केसः पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा गिरफ्तार, जानें कौन हैं
2 कोविड ड्रग्स की सप्लाई पर सोनू सूद और MLA सिद्दीकी पर शिंकजाः बांबे HC ने दिया जांच का आदेश
3 पीएम-उद्धव की मुलाकात के बाद बदले राउत के तेवर, बोले- मोदी बीजेपी और देश के सबसे बड़े नेता
ये पढ़ा क्या?
X