ताज़ा खबर
 

दाऊद के भाई की जेल में आवभगत, इकबाल कासकर की खातिर बिरयानी से लेकर सिगरेट तक का इंतजाम

कासकर को उसके दो दोस्तों के साथ 18​ सितंबर 2017 को गिरफ्तार किया गया था। ये गिरफ्तारी ठाणे की रंगदारी विरोधी शाखा ने की थी। कासकर पर एक​ बिल्डर ने मामला दर्ज करवाया था कि उसने उससे ठाणे में चार फ्लैट और 30 लाख रुपये की मांग की थी।

माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम का भाई इकबाल कासकर। एक्सप्रेस आर्काइव। Express photo by: Ganesh Shirsekar

माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर को जेल में खास सहूलियत देने के आरोप में महाराष्ट्र पुलिस के पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है। महाराष्ट्र के ठाणे जिले के संयुक्त पुलिस आयुक्त मधुकर पांडेय ने निलंबन के आदेश दिए हैं। लेकिन पुलिस ने निलंबित होने वाले पुलिसकर्मियों के नाम उजागर नहीं किए हैं। कासकर को पिछले साल कथित तौर पर फिरौती मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। कासकर ने गुरुवार (25 अक्टूबर) को दांत में दर्द और सीने में दर्द की शिकायत की थी। बता दें कि कासकर इस वक्त ठाणे के केंद्रीय कारागार में बंद है।

ठाणे क्राइम ब्रांच के डिप्टी पुलिस कमिश्नर दीपक देवराज ने मीडिया को बताया,” गुरुवार को कोर्ट ने आदेश दिया था कि कासकर को मेडिकल जांच के लिए ले जाया जाए। हमारे संज्ञान में ये बात भी आई थी कि इस चेकअप के दौरान कासकर को स्पेशल ट्रीटमेंट दिया गया। इस पूरे वाकये का एक निजी चैनल ने वीडियो बना लिया था।

कासकर को पहले भी कई बार अस्पताल ले जाया जा चुका है लेकिन इस बार उसे पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में सिगरेट पीते, पैसे देते और कथित तौर पर पुलिसकर्मियों को बिरयानी परोसते हुए भी देखा गया। कासकर को सुबह जेल से ले जाया गया ​था और शाम को लौटाकर वापस ले आया गया। जबकि सामान्य मेडिकल जांच में इतना वक्त नहीं लगता है।

देवराज ने मीडिया को बताया,” शुक्रवार को वही वीडियो वरिष्ठ अधिकारियों के सामने प्रस्तुत किया गया था।, इसके बाद हमने निलंबन के आदेश जारी कर दिए। निलंबित होने वाले पांच पुलिसकर्मियों में एक सब इंस्पेक्टर भी है। ये सभी पुलिस मुख्यालय में ही पदस्थ थे। हालांकि , वर्तमान में हमें इस पदाधिकारियों के नाम उजागर करने की अनुमति नहीं है। ठाणे कमिश्नर कार्यालय के एक पुलिस अधिकारी ने एचटी को बताया,”अगर आरोप सही पाए गए तो उन सभी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है। इसके अलावा अधिकारी ये भी जांच रहे हैं कि क्या इसमें किसी अन्य पुलिसकर्मी की भी संलिप्तता है?”

ठाणे सिविल अस्पताल के सिविल सर्जन कैलाश पवार ने मीडिया से बातचीत करते हुए पुष्टि की कि कासकर को अस्पताल लाया गया था। डॉ. पवार ने कहा,”कासकर गुरुवार को दांत दर्द की शिकायत लेकर आया था। हमने उसे दंत चिकित्सा विभाग में भेज दिया। उसने हमसे विनती की कि हम उसके कुछ दांतों को उखाड़ दें क्योंकि वह दर्द को बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है। उसने हमसे नए दांत लगाने के लिए भी कहा। कासकर को डायबिटीज है इसलिए अगर हम कोई भी सर्जरी करते तो उसके घाव भरने में काफी वक्त लगने वाला था। हमने उसके खून के नमूने ले लिए है और हमें रिपोर्ट का इंतजार है।”

कासकर को उसके दो दोस्तों के साथ 18​ सितंबर 2017 को गिरफ्तार किया गया था। ये गिरफ्तारी ठाणे की रंगदारी विरोधी शाखा ने की थी। कासकर पर एक​ बिल्डर ने मामला दर्ज करवाया था कि उसने उससे ठाणे में चार फ्लैट और 30 लाख रुपये की मांग की थी। कासकर पर फिलहाल रंगदारी मांगने के दो और मामले चल रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App