scorecardresearch

आर्थर रोड जेल में घर का बना खाना खा सकेंगे संजय राउत, ले पाएंगे दवा, कोर्ट ने संजय राउत को 14 दिन की कस्‍टडी में भेजा

मुंबईः हालांकि संजय राउत और उनकी पत्नी पर ईडी ने शिकंजा कसना काफी पहले से शुरू कर दिया था। लेकिन उनकी मुश्किलों में तब ज्यादा इजाफा हुआ जब उद्धव सरकार धाराशायी हो गई।

आर्थर रोड जेल में घर का बना खाना खा सकेंगे संजय राउत, ले पाएंगे दवा, कोर्ट ने संजय राउत को 14 दिन की कस्‍टडी में भेजा
संजय राउत (फोटो सोर्स- ANI)

शिवसेना सांसद संजय राउत को सोमवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। वो 22 अगस्त तक जेल मे रहेंगे। हालांकि अदालत से उन्हें एक बड़ी राहत भी मिली है। अदालत ने संजय राउत के स्वास्थ्य को देखते हुए, उन्हें उन सभी दवाओं के अनुमति दे दी है जो उन्हें ईडी की हिरासत के दौरान दी गई थी। इसके साथ ही संजय राउत आर्थर रोड जेल में भी घर का बना खाना खा सकेंगे।

राउत को 31 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। ईडी ने राउत के घर पर छापा मारा था। पूछताछ के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया था। अदालत ने उन्हें चार अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेज दिया था। इसके बाद उनकी रिमांड आठ अगस्त तक बढ़ाई गई थी। संजय राउत अभी तक ईडी की हिरासत में थे। पात्रा चॉल स्कैम में पिछले दिनों ईडी ने संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को भी पूछताछ के लिए तलब किया था। उनसे भी घंटों पूछताछ कर मामले के पीछे का सच सामने लाने की कोशिश की गई थी।

हालांकि संजय राउत और उनकी पत्नी पर ईडी ने शिकंजा कसना काफी पहले से शुरू कर दिया था। लेकिन उनकी मुश्किलों में तब ज्यादा इजाफा हुआ जब उद्धव सरकार धाराशायी हो गई। उसके बाद ही संजय राउत को हिरासत में लिया गया। वो ठाकरे परिवार के खासमखास माने जाते हैं। ये भी कहा जाता है कि उद्धव से राउत की नजदीकी ही शिंदे को उनसे दूर ले गई।

पात्रा चॉल स्कैम बना मुसीबत

गोरेगांव स्थित पात्रा चॉल के 672 परिवारों के घरों के पुनर्विकास के लिए 2007 में महाराष्ट्र हाउसिंग डेवलपमेंड अथॉरिटी (म्हाडा) और गुरु कंस्ट्रक्शन कंपनी के बीच करार हुआ था। इस करार के तहत कंपनी को साढ़े तीन हजार से ज्यादा फ्लैट बनाकर म्हाडा को देने थे। आरोप है कि कंपनी ने म्हाडा को गुमराह कर पात्रा चॉल की एफएसआई 9 अलग-अलग बिल्डरों को बेच कर 901 करोड़ रुपये जमा किए। लेकिन 672 लोगों को उनका मकान नहीं दिया गया। 2018 में म्हाडा ने केस दर्ज कराया था।

गुरु कंस्ट्रक्शन कंपनी के निदेशक रहे प्रवीण राउत, संजय राउत के करीबी हैं। ईडी ने प्रवीण को फरवरी 2022 में गिरफ्तार कर लिया था। आरोप है कि प्रवीण ने घोटाले की रकम में से 55 लाख रुपये संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत के खाते में डाले थे। इस रकम से राउत ने दादर में फ्लैट खरीदा था। ईडी वर्षा राउत से पूछताछ कर चुकी है। वर्षा ने बताया था कि ये पैसे उन्होंने फ्लैट खरीदने के लिए प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी से लिए थे। ईडी की पूछताछ के बाद वर्षा ने पैसे वापस माधुरी को लौटा दिए थे।

पढें महाराष्ट्र (Maharashtra News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट