raj thakre targeted amit shah and udhav thakre by cartoon - अमित शाह और उद्धव की मुलाकात पर राज ठाकरे का कार्टून, एक-दूसरे की पीठ में घोंप रहे छुरा - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अमित शाह और उद्धव की मुलाकात पर राज ठाकरे का कार्टून, एक-दूसरे की पीठ में घोंप रहे छुरा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उसके पुराने दोस्त शिवसेना के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। सबकुछ ठीक करने के लिए ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार (6 जून) को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। लेकिन अब इस मुलाकात पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने निशाना […]

राज ठाकरे ने कार्टून के जरिए अमित शाह और उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा था। फोटो सोर्स – ट्विटर

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उसके पुराने दोस्त शिवसेना के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। सबकुछ ठीक करने के लिए ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार (6 जून) को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। लेकिन अब इस मुलाकात पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने निशाना साधा है। राज ठाकरे ने सोशल साइट ट्विटर पर एक कार्टून शेयर कर अमित शाह और उद्धव ठाकरे दोनों पर ही निशाना साधा है। इस कार्टून में दोनों नेता एक दूसरे के गले मिलते और एक दूसरे की पीठ में छूरा घोपते नजर आ रहे हैं।

आपको बता दें कि इससे पहले अमित शाह शिवसेना प्रमुख से मिलने मातोश्री गए थे। दरअसल भाजपा ने ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान चला रखा है। इस अभियान के तहत अमित शाह विभिन्न हस्तियों से मुलाकात कर रहे हैं। इसी अभियान के तहत अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। शिवसेना और बीजेपी के बीच बढ़ी तल्खियों को देखते हुए इस मुलाकात के जरिए आपसी गिले-शिकवे दूर करने की कोशिश की गई थी। इस मुलाकात के दौरान उद्धव ठाकरे ने अमित शाह से अकेले मिलने की इच्छा भी जाहिर की थी। जिसके बाद राज्य के सीएम देवेंद्र फडणवीस कि बिना ही दोनों नेताओं ने अकेले में बातचीत भी की थी।

आपको बता दें कि नोटबंदी, जीएसटी, भ्रष्टाचार, किसानों समेत कई मुद्दों पर अब तक शिवसेना ने केंद्र की मोदी सरकार पर खूब निशाना साधा है। लिहाजा बीजेपी 2019 चुनाव के लिए अपने पुराने दोस्त को मनाने में जुटी हुई है। हाल ही में शिवेसना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखे संपादकीय के जरिए यह इशारा भी किया था कि वो अगला लोकसभा चुनाव अकेले भी लड़ सकती है। इतना ही नहीं शिवसेना ने विभिन्न राज्यों में हुए उपचुनाव के नतीजे आने के बाद भी भाजपा को निशाने पर लिया था और कहा था कि भाजपा को अब दोस्तों की जरूरत नहीं है। महाराष्ट्र के पालघर सीट पर हुए उपचुनाव में दोनों दोस्त आमने-सामने भी थे। पालघर से बीजेपी प्रत्याशी ने जीत हासिल की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App