ताज़ा खबर
 

पुणे में मराठा और दलितों के बीच भिड़ंत के बाद तनाव

मराठा SC, ST कोटा और अत्याचार निरोधक कानून में बदलाव की मांग कर रहे हैं।

Pune, Lohegaon, Dalit Atrocities Act, Maratha Protestsमराठाओं ने सरकारी नौकरी में आरक्षण के लिए सितंबर में जुलूस निकाला था

सरकारी नौकरियों में आरक्षण की मांग कर रहे मराठाओं और दलितों में गुरुवार को भिड़ंत हो गए। इस घटना में कई लोगों के घायल होने की खबर है। दोनों गुटों के बीच पुणे के लोहेगांव में भिड़ंत हो गई। मराठा समुदाय ने पुणें के लोहेगांव क्षेत्र में  पुलिस स्टेशन तक मार्च किया। ये SC/ST एक्ट को बदलने की मांग कर रहे थे। हालांकि पुलिस ने स्थिति नियंत्रण में कर ली है पर क्षेत्र में तनाव अभी भी व्याप्त है। इस घटना के बाद नासिक में स्कूलों को बंद कर दिया गया है और इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। इससे पहले 25 सितंबर को मराठा समुदाय ने कोपर्डी बलात्कार और हत्या मामले में दोषियों को सजा, शिक्षा और सरकारी नौकरियों में कोटा, एससी, एसटी (अत्याचार निरोधक कानून) में बदलाव, किसानों की कर्ज माफी और कृषि उत्पादों के लिए दर की गारंटी सहित अपनी मांगों को लेकर विभिन्न जिलों में जुलूस निकाला था।

इस जुलूस के आयोजकों ने दावा किया था कि इस जुलूस में रेकॉर्ड 30 लाख लोग शामिल हुए। हालांकि पुलिस का कहना है कि आठ से दस लाख लोग, जिनमें ज्यादातर ग्रामीण इलाकों से थे, इस जुलूस में शामिल हुए थे। इससे पहले हरियाणा में जाटों ने भी आरक्षण की मांग उठाई थी जिसे लेकर हरियाणा में कई हिंसक प्रदर्शन भी हुए थे। इसके बाद राज्य में तनाव का माहौल था। हरियाणा के अलावा गुजरात में भी पटेल समुदाय आरक्षण की मांग करता रहा है। हार्दिक पटेल के नेतृत्व में पटेल समुदाय ने भी कई बार आरक्षण के लिए प्रदर्शन किया है।

Read Also: अठावले ने किया मराठा आरक्षण का समर्थन, कहा- रिज़र्वेशन सीमा 75% कर देनी चाहिए

Next Stories
1 RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- गिलगित-बाल्‍टीस्‍तान, पीओके सहित पूरा कश्‍मीर हमारा है
2 महाराष्‍ट्र ATS ने कहा- युवक को IS में शामिल होने के लिए दिया सेक्‍स स्‍लेव और मरने पर हूर मिलने का लालच
3 भारत को 36 महीने से पहले ही मिल सकते हैं राफेल लड़ाकू विमान: मनोहर पर्रिकर
आज का राशिफल
X