ताज़ा खबर
 

बकरी को बचाने के लिए बाघ से भिड़ गई रूपाली, लहूलुहान हालत में खींची सेल्फी

रिपोर्ट के अनुसार, बाघ के हमले में रूपाली और उसकी मां को मामूली चोटें आई हैं, लेकिन वह अपनी बकरी को नहीं बचा सकी। घायलावस्था में रूपाली ने अपनी मां के साथ एक सेल्फी भी ली, जिसमें उसके चेहरे पर चोट के निशान साफ देखे जा सकते हैं।

रुपाली मेशरम। (Photo Source: BBC News)

महाराष्ट्र की रहने वाली 23 वर्षीय युवती बाघ द्वारा उसकी बकरी पर हमला किए जाने के बाद बाघ से भिड़ गई, लेकिन वह खुशकिस्मत रही कि इस हमले में उसकी जान बच गई। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, यह घटना पिछले हफ्ते की है। इस महिला का नाम रूपाली मेशरम है। रूपाली अपनी बकरी के चिल्लाने की आवाज सुनकर घर से बाहर निकली तो उसने देखा कि एक बाघ उसकी बकरी पर हमला कर रहा था। रूपाली ने एक डंडा लिया और बाघ को उससे पीटने लगी, जिसके बाद बाघ ने उस पर हमला कर दिया।

इसी बीच रूपाली की मां ने उसे घर के अंदर खींच लिया, जिसके कारण उसकी जान बच सकी। रिपोर्ट के अनुसार, बाघ के हमले में रूपाली और उसकी मां को मामूली चोट आई है, लेकिन वह अपनी बकरी को नहीं बचा पाई। घायलावस्था में रूपाली ने अपनी मां के साथ एक सेल्फी भी ली, जिसमें उसके चेहरे पर चोट के निशान साफ देखे जा सकते हैं। रूपाली और उसकी मां का इलाज करने वाले डॉक्टर ने बकरी के लिए बाघ से भिड़ने वाले रूपाली के साहस की सराहना की और कहा कि इस हमले में रूपाली बहुत खुशकिस्मत रही कि बाघ से बच गई।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32 GB (Venom Black)
    ₹ 8199 MRP ₹ 11999 -32%
    ₹410 Cashback

रूपाली को सिर, छाती, पैर और हाथों में चोटें आई हैं। वहीं, रूपाली की मां को आंख के पास चोट लगी है। बीबीसी से बातचीत के दौरान रूपाली की मां जीजाभाई ने कहा, “मुझे लगा था कि मेरी बेटी मर जाएगी।” रिपोर्ट के अनुसार, रूपाली के गांव में अक्सर जंगली जानवर घूमते हुए देखे जाते हैं। वहीं, इस मामले पर रूपाली ने कहा, “इस तरह के हमले के बाद इतनी जल्दी वापस गांव लौटने को लेकर मैं थोड़ी चिंतित थी, लेकिन मुझे डर नहीं था।” इसके साथ ही रूपाली ने यह भी बताया कि बाघ के हमला करने के बाद उसने फॉरेस्ट गार्ड को बुलाया था, लेकिन गार्ड के आने से पहले ही बाघ वहां से भाग गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App