ताज़ा खबर
 

स्पोर्ट्स कार खरीदने की चाहत में दो नाबालिगों ने किया बच्ची का अपहरण, नहीं मिली फिरौती तो गला घोंटकर कर दी हत्या

बच्ची पांच दिसंबर से लापता थी और इस संबंध में उसके माता-पिता ने जे.जे मार्ग पुलिस थाना में एक मामला दर्ज कराया था। बच्ची के माता-पिता को दो अज्ञात लोगों ने फोन कर एक करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की थी।

इस तस्वीर का इस्तेमाल खबर के प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है।

गत 25 दिसंबर को दक्षिणी मुंबई में दिल दहला देने वाली एक घटना सामने आई थी, जिसमें दो नाबालिग लड़कों ने एक करोड़ रुपये की फिरौती के लिए साढ़े तीन वर्ष की एक बच्ची का कथित तौर पर अपहरण करने के बाद हत्या कर दी थी। पुलिस ने नागपाड़ा क्षेत्र के हाजी कासम चॉल के काजीपुरा से बच्ची का शव टुकड़ों में बरामद किया था, जिसके बाद छानबीन में दोनों नाबालिग लड़कों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस को छानबीन के दौरान पता चला है कि स्पोर्ट्स कार खरीदने की लालच में दोनों लड़कों ने इस वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस द्वारा पूछताछ किए जाने पर दोनों लड़कों ने बताया कि वो फिरौती के 1 करोड़ रुपये से स्पोर्ट्स कार खरीदना चाहते थे, जिसके लिए उन्होंने साढ़े तीन साल की मासूम का कत्ल कर दिया। लड़कों ने बच्ची के मां बाप से एक करोड़ की फिरौती काी मांग की थी। पुलिस ने दोनों नाबालिग आरोपियों को 2 जनवरी तक के लिए डोंगरी रिमांड होम में रखा है। जे.जे मार्ग पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया, ‘हत्या का मुख्य नाबालिग आरोपी स्पोर्ट्स कारों का दिवाना है। उसने अपने पिता की मर्जी के विरोध में जाकर एक कार खरीदा भी है और उसकी प्लानिंग मर्सिडीज बेंज खरीदने की थी। दोनों नाबालिग आरोपियों ने बच्ची के बदले मिलने वाली फिरौती को आपस में आधा आधा बांटने की प्लानिंग की थी। बच्ची को किडनैप करने के बाद दोनों ने उसके पिता से एक करोड़ की फिरौती मांगी थी, फिर 28 लाख लेकर बच्ची को उसके पेरेंट्स के हवाले करने के लिए दोनों तैयार हो गए थे। उन्होंने 28 लाख रुपये की मदद से स्पोर्ट्स बाइक खरीदने के बारे में सोचा था।’

क्या था मामला: बच्ची पांच दिसंबर से लापता थी और इस संबंध में उसके माता-पिता ने जे.जे मार्ग पुलिस थाना में एक मामला दर्ज कराया था। बच्ची के माता-पिता को दो अज्ञात लोगों ने फोन कर एक करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की थी। इतनी बड़ी राशि देने में असमर्थ पिता ने कथित अपहरणकर्ताओं को 28 लाख रुपये देने के लिए राजी हो गये थे। बाद में अपहरणकर्ताओं ने बच्ची के पिता को ठाणे में कलवा में फिरौती की राशि के साथ आने के लिए कहा। मामले की जांच के दौरान पुलिस ने बच्ची के पड़ोस में रहने वाले 16 वर्षीय एक लड़के को हिरासत में लिया और उससे पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि इस लड़के ने 16 वर्षीय एक और लड़के के साथ मिलकर पांच दिसंबर को लड़की का अपहरण किया था और बाद में सेल फोन के चार्जर की तार से उसका गला घोंट दिया था।

वीडियो: चौकीदार पर दो महिलाओं ने किया चाकू से हमला, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App