ताज़ा खबर
 

कर्नाटक पुलिस के खिलाफ मानवाधिकार उल्लंघन का मामला चलाने की मांग

शिवसेना ने पूछा कि कर्नाटक पुलिस किस कानून के तहत उन लोगों पर अत्याचार कर रही है जो महाराष्ट्र का हिस्सा बनना चाहते हैं।

Author मुंबई | November 8, 2016 4:38 AM
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे। (फाइल फोटो)

शिवसेना ने एक नवंबर को ‘कर्नाटक राज्योत्सव दिवस’ पर बेलगांव में विरोध प्रदर्शन रैली में हिस्सा लेने वाले लोेगों के साथ ‘अमानवीय’ व्यवहार करने के लिए कर्नाटक पुलिस के खिलाफ मानवाधिकारों के उल्लंघन का मामला दर्ज करने की समवार को मांग की। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा, ‘कर्नाटक पुलिस और राज्य के राजनीतिक गुंडे सीमा पर रहने वाले मराठी लोगों को आतंकित करते रहे हैं। हर साल की तरह ‘काला दिवस’ मना रहे लोगों के साथ पुलिस के अमानवीय व्यवहार की केवल निंदा करने से काम नहीं चलेगा। पुलिस के खिलाफ मानवाधिकारों के उल्लंघन का मामला दायर करने की जरूरत है।’ इसमें कहा गया कि महाराष्ट्र सरकार को मामला दायर करने की पहल करनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट: सत्येंद्र जैन पर लगाया 25 हज़ार का जुर्माना; कर्नाटक सरकार को जवाब देने के लिए मांगा समय

शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो एक आजाद बलूचिस्तान का समर्थन कर रहे हैं, वे महाराष्ट्र और कर्नाटक की सीमा पर रहने वाले लोगों के 60 साल का संघर्ष नहीं देखते। शिवसेना ने पूछा कि कर्नाटक पुलिस किस कानून के तहत उन लोगों पर अत्याचार कर रही है जो महाराष्ट्र का हिस्सा बनना चाहते हैं। एक नवंबर को बेलगांव में विरोध प्रदर्शन रैली में हिस्सा लेने के लिए युवाओं और कर्नाटक के एक क्षेत्रीय संगठन महाराष्ट्र एकीकरण समिति (एमईएस) के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया था। एमईएस नेताओं ने आरोप लगाया कि कर्नाटक पुलिस ने उसके कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा और प्रताड़ित किया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App