ताज़ा खबर
 

शिवसेना ने केंद्र सरकार से कहा, नोटबंदी पर मनमोहन सिंह की बात को गंभीरता से लिया जाए

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘एक व्यक्ति 125 करोड़ लोगों के लिए फैसला नहीं ले सकता।'
Author मुंबई | November 24, 2016 19:17 pm
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे (पीटीआई फाइल फोटो)

नोटबंदी को लेकर केंद्र पर कई बार निशाना साधने के बाद, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गुरुवार (24 नवंबर) को इस कदम को ‘आम आदमी से लूट’ बताया और भाजपा से पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बात को गंभीरता से लेने को कहा क्योंकि वह ‘जाने माने अर्थशास्त्री’ हैं। ठाकरे ने यहां संवाददाताओें से कहा, ‘जिस तरह से नोटबंदी को लागू किया गया मैं उसपर गंभीर रुख अपनाने से नहीं हिचकिचाऊंगा।’ उन्होंने कहा, ‘यूरोपीय संघ से निकलने से पहले ब्रिटेन में जिस तरह जनमत संग्रह हुआ यहां पर एक सर्वेक्षण कराया जा रहा। लेकिन लोगों की प्रतिक्रिया देखकर उनके (ब्रिटेन के) प्रधानमंत्री को पद छोड़ना पड़ा। क्या यहां भी वैसा ही होगा?’ परोक्ष रूप से ठाकरे प्रधानमंत्री द्वारा लोगों से नरेंद्र मोदी एप्प पर नोटबंदी को लेकर लोगों की प्रतिक्रिया मांगे जाने का हवाला दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि जब लोगों की आंखों में आंसू है ऐसे वक्त में मोदी के भावुक होने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा, ‘एक व्यक्ति 125 करोड़ लोगों के लिए फैसला नहीं ले सकता। नकदी बंद करने का फैसला लेने के पहले लोगों को विश्वास में लेना चाहिए था।’ ठाकरे ने कहा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जाने माने अर्थशास्त्री हैं। इसलिए उनकी बातों और विचार को गंभीरता से लेना चाहिए। जिस तरह रकम जमा करवायी जा रही है लगता है कि आम आदमी से धन लूटा जा रहा है। बहुत सारी आकांक्षाओं के साथ आपको सत्ता में लाने वाले लोगों की आंखों में आपने आंसू ला दिये।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Sidheswar Misra
    Nov 24, 2016 at 2:05 pm
    अडवाणी जी ने पहले ही कह दिया था। विरोध इस लिए नहीं कर रहे जिस पौधे को लगाया उसको खुद काटे जो अपने आप स्वतः अहंकार में मस्त सड़क पर चल रहो। उसको अपने पर छोड़ दो।
    (0)(0)
    Reply