ताज़ा खबर
 

तेजस एक्सप्रेस में काम नहीं कर रही थी LCD स्क्रीन, यात्री को आया गुस्सा तो मुक्का मारकर तोड़ डाली

सीसीटीवी फुटेज और IRCTC बुकिंग लिस्ट देखने के बाद आरोपी की पहचान हो सकी है।
तेजस में लगभग 20 कोचिस होंगे। तेजस एक्सप्रेस में स्वचालित दरवाजे (ऑटोमैटिक डोर) और पूरी तरह बंद गैंगवे (डिब्बों को जोड़ने वाला रास्ता) हैं। यह भारतीय रेलवे की इस तरह की पहली ट्रेन है। (Photo Source: Financial Express)

भारतीय रेलवे अधिकारियों ने मुंबई के दादर इलाके में रहने वाले एक शख्स को तेजस एक्सप्रेस ट्रेन में तोड़फोड़ करने के जुर्म में गिरफ्तार किया है। शख्स अपने दोस्तों के साथ कुछ समय पहले इस ट्रेन में सफर कर रहा था। सीसीटीवी फुटेज और IRCTC बुकिंग लिस्ट देखने के बाद आरोपी की पहचान हो सकी है। Mumbai Mirror में छपी रिपोर्ट के मुताबिक आरपीएफ, सेंट्रल रेलवे के वरिष्ठ डिवीजनल सुरक्षा आयुक्त सचिन भलोड़े ने कहा, “ट्रेन की पहली यात्रा के दौरान ही इसमें लगे हेडफोन को चुरा लिया गया था, जिसके बाद पूरी ट्रेन में सीसीटीवी कैमरा लगा दिए थे। इसकी वजह से काफी सहायता मिली।”

आरोपी मंगलवार 18 जुलाई को मुंबई स्थित कोर्ट के समक्ष पेश किया गया और 25 हजार रुपए का जुर्माना लिए जाने के बाद छोड़ दिया गया। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, शख्स को रेलवे एक्ट की धारा 145(b), 145 (c) और 147 के तहत गिरफ्तार किया गया था और पब्लिक पॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने के लिए 22 हजार व 3000 रुपए जुर्माने के रूप में जमा कराने को कहा था। पूछताछ में शख्स ने बताया कि स्क्रीन काम नहीं कर रही थी इसलिए उसने मुक्का मार दिया था।

बता दें कि तेजस एक्सप्रेस सेमी-हाई स्पीड ट्रेन है जो मुंबई-गोवा रूट पर चलती है। 19 डिब्बों की यह वातानुकूलित रेलगाड़ी एलईडी टीवी, चाय, कॉफी वेडिंग मशीनों, केटरिंग सेवा, बायो वैक्यूम टॉयलेट्स, जीपीएस आधारित यात्री सूचना डिसप्ले स्क्रीन सहित कई सुविधाओं से लैस है। यह रेलगाड़ी मुंबई-गोवा मार्ग पर गैर-मानसून मौसम में सप्ताह में पांच दिन (मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार) संचालित होती है। 10 जून से 31 अक्टूबर तक के मानसूनी मौसम के दौरान यह सप्ताह में तीन दिन (सोमवार, बुधवार और शनिवार) संचालित होगी।

यह रेलगाड़ी 130 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल सकती है। इसमें ऑटोमेटिक दरवाजे, वाईफाई और एलसीडी स्क्रीन हैं। साथ ही इसमें टचलेस वॉटर टैप, वॉटर लेवल इंडीकेटर और हैंड ड्रायर भी हैं। सभी डिब्बों में बॉयो वैक्युम टॉयलेट भी है। मुंबई से गोवा की एकतरफा यात्रा का टिकट 2,740 रुपये है, जिसमें भोजन की भी सुविधा है, तथा बिना भोजन के टिकट की कीमत 2,585 रुपये है। जबकि साधारण चेयर कार की कीमत 1,310 भोजन के साथ तथा बिना भोजन के 1,185 रुपये है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.