ताज़ा खबर
 

26/11 मुंबई हमले के संदिग्ध LeT के पूर्व आतंकी सुफायान जफर को पाकिस्तान ने दोषमुक्त करार दिया

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरावाला शहर का रहने वाला सुफायान जफर मुंबई आतंकी हमले के वॉन्टेड लिस्ट में शामिल 21 भगोड़े संदिग्धों में से एक है।

Author इस्लामाबाद | Published on: September 9, 2016 5:22 PM
मुंबई में 26 नवंबर 2008 को एक के बाद एक हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 166 लोग मारे गए थे।

मुंबई में 2008 में हुए सिलसिलेवार बम धमाके में शामिल होने के आरोप में पिछले महीने गिरफ्तार किए गए लश्कर-ए-तैयबा के एक पूर्व आतंकी को पाकिस्तान की फेडरल इंवेस्टिगेशन एजंसी ने दोषमुक्त कर दिया है। एफआईए ने कहा कि उसके खिलाफ कोई आरोप साबित नहीं पाया। लश्कर-ए-तैयबा के पूर्व आतंकी सुफायान जफर पर मुंबई आतंकी हमले के लिए 14,800 रुपये की वित्तीय मदद देने का आरोप था। साथ ही जफर पर एफआईए द्वारा पकड़े गए एक अन्य आरोपी जमील रियाज को मुबंई हमले से ठीक पहले 3.98 लाख रुपये मुहैया कराने का आरोप था।

पाकिस्तानी जांच एजंसी के एक अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान जफर के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है। अब उपरोक्त आरोपों के लिए जफर के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट फाइल नहीं की जाएगी। अधिकारी ने कहा, ‘इस मामले में 22 सितंबर को अगली सुनवाई होनी है। एफआईए ट्रायल कोर्ट में चालान पेश करेगी लेकिन जफर के खिलाफ कोई आरोपपत्र नहीं दायर किया जाएगा।’ मुंबई आतंकी हमले में कथित तौर पर संलिप्त करार दिए जाने के बाद से ही जफर अंडरग्राउंड हो गया था। पिछले महीने जफर को खैबर पख्तूनख्वाह में उसके ठिकाने से गिरफ्तार किया गया था। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरावाला शहर का रहने वाला जफर मुंबई आतंकी हमले के वॉन्टेड लिस्ट में शामिल 21 भगोड़े संदिग्धों में से एक है।

छह अन्य संदिग्ध- अब्दुल वाजिद, मजहर इकबाल, हम्माद अमीन सादिक, शाहिद जमील रियाज, जमील अहमद और यूनुस अंजुम रावलपिंडी के अदियाला जेल में साल 2009 से ही बंद हैं। लश्कर के आतंकी जकिउर रहमान लखवी को 2008 में हुए मुंबई आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड माना जाता है।

Read Also: यूरोप की सबसे ऊंची पहाड़ी पर खराब हुई केबल कार, 9,840 फीट पर पूरी रात लटके रहे 45 लोग

इस केस में प्रमुख संदिग्ध लखवी जमानत मिलने के बाद से ही फरार है। गौरतलब है कि मुंबई में 26 नवंबर 2008 को एक के बाद एक हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 166 लोग मारे गए थे। लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। भारतीय सुरक्षा बलों ने कार्रवाई करते हुए 9 आतंकियों को मार गिराया था जबकि अजमल कसाब को जीवित पकड़ा था। बाद में कसाब को फांसी दे दी गई थी।

Read Also: पाकिस्तान में परमाणु हथियारों का बढ़ता जखीरा अमेरिका के लिए ‘गंभीर खतरा’: विशेषज्ञ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बीएमसी का पलटवार-घूस मांगने का आरोप लगाने वाले कपिल शर्मा कर रहे हैं गैरकानूनी निर्माण, भेजा जा चुका है नोटिस
2 बीजेपी विधायक ने दर्ज कराई शिकायत- ट्विटर पर क्यों बताया, पुलिस के पास क्यों नहीं गए कपिल शर्मा
3 मुंबई के नेवी बेस आईएनएस हामला पर भगदड़, काफी लोग जख्मी, लगभग 10 हजार परीक्षार्थी गए थे पेपर देने