ताज़ा खबर
 

बॉलीवुड एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी और ड्रग माफिया विक्की गोस्वामी के खिलाफ गैर जमानती वारंट

पिछले साल सोलापुर में एवोन लाइफसाइंस पर छापा मारा गया था और दो हजार करोड़ रूपए की एफेड्रिन बरामद हुई थी

Mamta Kulkarniमाना जाता है कि ममता कुलकर्णी और विक्की गोस्वामी भारत के बाहर हैं।

ठाणे की जिला अदालत ने सोमवार को कथित इंटरनेशनल ड्रग माफिया विक्की गोस्वामी और उसकी सहयोगी और एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी के खिलाफ एफेड्रिन बरामदगी मामले में गैर जमानती वारंट जारी किया है। दोनों के बारे में माना जाता है कि वे भारत के बाहर हैं। जिला न्यायाधीश एच एम पटवर्धन ने वारंट जारी किये। ठाणे पुलिस ने गत वर्ष सोलापुर में एवोन लाइफसाइंस पर छापा मारा था और वहां से दो हजार करोड़ रूपए कीमत का करीब 18.5 टन एफेड्रिन बरामद किया था। पुलिस के अनुसार एफेड्रिन एवोन लाइफसाइंस से केन्या स्थित गोस्वामी के नेतृत्व वाले मादक पदार्थ गिरोह को भेजा जाने वाला था। पुलिस ने इस मामले में 10 से अधिक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

ममता पिछले कुछ साल से अपने पति और व्यापार साझेदार विकी गोस्वामी के साथ केन्या में रह रही हैं। उनके पति भी इस मामले में सह-आरोपी हैं। बता दें कि विकी गोस्वामी गुजरात के एक पुलिस अफसर का बेटा है। विकी ने 80 के दशक में जुर्म की दुनिया में कदम रखा। करीब दो दशकों में वह अपना नेटवर्क दुबई से लेकर अफ्रीका तक फैला चुका है। भारत में विकी का नाम उस केस से जुड़ा है जिसमें सोलापुर फार्मा युनिट से बड़ी मात्रा में मेथामफेटामाइन बरामद हुआ था।

पिछले साल सितंबर में ममता कुलकर्णी ने अपने ऊपर लगे तमाम आरोपों को खारिज किया था और कहा था कि वह ‘योगिनी’ और ‘निर्दोष’ हैं। ममता केन्या के मोंबासा में रहती हैं, वहां से जारी एक वीडियो टेप में कहा, “मैं एक योगिनी हूं। मैं पिछले 20 साल से अध्यात्म की दुनिया में रमी हुई हूं। मैं निर्दोष हूं, अपने खिलाफ लगे आरोप से आहत हूं।” उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और गृहराज्य मंत्री किरन रिजिजू को पत्र लिखकर मांग की थी कि उन्हें ड्रग मामले में घसीटने वाली महाराष्ट्र पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी में प्रचंड जीत के बाद महाराष्‍ट्र में मध्‍यावधि चुनाव कराना चाहती है बीजेपी, शिव सेना के साथ नहीं पट रहा साथ
2 महाराष्ट्र: 40 हजार डॉक्टर हड़ताल पर 60 फीसद आॅपरेशन टले, दिल्ली के डॉक्टर भी उतरे समर्थन में
3 महाराष्ट्र जिला परिषद चुनाव 2017: मोदी लहर पर सवार बीजेपी को रोकने के लिए कई सीटों पर साथ लड़ रहे हैं शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस
ये पढ़ा क्या?
X