ताज़ा खबर
 

बोहरा मुस्लिमों से नरेंद्र मोदी के म‍िलने पर मुस्‍ल‍िम नेता ने कहा- धोबी के कुत्‍ते वाली बात हो गई!

एनसीपी नेता ने कहा कि मोदी जी बोहरा समाज के पास गए कि शायद मुसलमानों को रिझा लिया जाए। लेकिन ना वो इधर के रहेंगे और ना उधर के रहेंगे। धोबी के कुत्ते वाली बात हो जाती है।

पीएम मोदी दाऊदी बोहरा समुदाय के धार्मिक कार्यक्रम के दौरान। (PTI Photo)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले दिनों मुसलमानों के एक पंथ दाऊदी बोहरा समुदाय के कार्यक्रम में पहुंचे। तब बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन की मौजूदगी में पीएम मोदी ने दाऊदी बोहरा समाज की खूब तारीख की। इस समाज के व्यापार करने के कौशल की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि ‘दाऊदी बोहरा समाज ने अपनी ईमानदारी, नियम सम्मत कार्य और अनुशासन में रहते हुए व्यापार को किस तरह आगे बढ़ाया जाता है, इस मामले में आदर्श स्थापित किया है। यह समाज जहां-जहां बसा, उसने इन मूल्यों के आधार पर अपनी अलग पहचान बनाई।’ हालांकि पीएम के बोहरा समुदाय के कार्यक्रम में जाने पर विपक्ष ने उनपर वोटों की राजनीति करने का आरोप लगाया।

अब नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद माजिद मेनन ने प्रधानमंत्री पर कटाक्ष किया है। न्यूज एजेंसी एएनआई से उन्होंने कहा कि मोदी जी बोहरा समाज के पास गए कि शायद मुसलमानों को रिझा लिया जाए। लेकिन ना वो इधर के रहेंगे और ना उधर के रहेंगे। धोबी के कुत्ते वाली बात हो जाती है। एनसीपी नेता ने आगे कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिस्थिति ऐसी है कि जहां वो कट्टर हिंदूवाद से हटते हैं वहां उनके गिरेबान पर हाथ पड़ जाता है। विश्व हिंदू संगठन (VHP) की तरफ से, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संगठन (RSS) की तरफ से। अभी वो (पीएम मोदी) बोहरा समाज के पास गए ये सोचकर की शायद मुसलमानों को रिझा लिया जाएगा, लेकिन वो ना इधर के रहेंगे ना उधर के रहेंगे। ये धोबी के कुत्ते वाली बात हो जाती है। अब यह पीएम मोदी के ऊपर है कि वो कितना कहां झुकते हैं। उनकी परिस्थिति ऐसी ना हो जाए कि यहां भी ना रहें और वहां भी ना रहें। लगता है अब परिस्थिति उनकी ऐसी ही बन रही है।

यहां देखें वीडियो-

बता दें कि इंदौर की सैफी मस्जिद में आयोजित कार्यक्रम में मोदी ने दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन की मौजूदगी में दाऊदी बोहरा समाज के व्यापार करने के कौशल को सराहते हुए कहा, “दाऊदी बोहरा समाज ने अपनी ईमानदारी, नियम सम्मत कार्य और अनुशासन में रहते हुए व्यापार को किस तरह आगे बढ़ाया जाता है, इस मामले में आदर्श स्थापित किया है। यह समाज जहां-जहां बसा, उसने इन मूल्यों के आधार पर अपनी अलग पहचान बनाई।” प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, “कारोबारी और व्यापारी इस देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ होता है, वह लोगों के लिए रोजगार पैदा करता है, इसलिए ऐसे कारोबारियों को जितना संभव हो प्रोत्साहन दिया जाए, यह सरकार दे रही है, यह हमारी प्राथमिकता है।”

मोदी ने आगे कहा, “दाऊदी बोहरा समाज के धर्मगुरु के सहयोग से गुजरात में जलसंकट और कुपोषण को कम करने में सफलता पाई थी, यह समाज ऐसा है जो किसी को भूखे नहीं सोने देता। इतना ही नहीं, बोहरा समाज ने 11000 आवासों का निर्माण कर गरीबों को उपलब्ध कराए हैं, यह प्रशंसनीय कार्य है।” मोदी ने आगे कहा कि दाऊदी बोहरा समाज स्वास्थ्य व स्वच्छता के लिए विशेष तौर पर काम करता है, सरकार भी लोगों के स्वास्थ्य के लिए आयुष्मान भारत योजना और सबको आवास योजना पर काम कर रही है। सरकार और समाज का काम एक ही दिशा में है। (एजेंसी इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App