ताज़ा खबर
 

मुंबई: घाटकोपर में इमारत ढहने के मामले में शिवसेना नेता गिरफ्तार, मरने वालों की संख्या हुई 17

स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर में स्थित नर्सिंग होम में रिनोवेशन का काम किया जा रहा था, जिस वजह से बिल्डिंग गिरी है।

मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हो गई।

मुंबई पुलिस ने बुधवार को शिवसेना नेता सुनील सिताप को गिरफ्तार किया है। सिताप को मुंबई के घाटकोपर इलाके में चार मंजिला एक आवासीय इमारत के ढह जाने की घटना के बाद गैर इरादतन हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है। मंगलावर को इमारत के ढह जाने की घटना में मलबे से पांच और शव बरामद होने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हो गई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक, यह बिल्डिंग सिताप के नाम पर है और स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर में स्थित नर्सिंग होम में रिनोवेशन का काम किया जा रहा था, जिस वजह से बिल्डिंग गिरी है।

पुलिस ज्वाइंट कमिश्नर (कानून एवं व्यवस्था) ने कहा कि शुरुआती जांच में पता लगा है कि बिल्डिंग में अवैध रूप से रिनोवेशन कराया जा रहा था। मामले की जांच की जा रही है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एक स्थानीय शख्स ने कहा, “बिल्डिंग में नवीनीकरण का काम किया जा रहा था। बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर शिवसेना नेता का नर्सिंग होम है। इसका नाम सिताप नर्सिंग होम है। इसमें चल रहे काम को रुकवाने के लिए सोमवार को स्थानीय लोगों ने मीटिंग भी की थी।”

चश्मदीदों के मुताबिक, सुबह 10.43 बजे के आस-पास इमारत अचानक ढह गई और धूल के गुबार के बीच उन्होंने कराहने व मदद के लिए चिल्लाने की आवाजें सुनीं। मुंबई अग्निशमन विभाग, बीएमसी बचाव दल, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) 14 दमकलों, बचाव वाहनों, एंबुलेंस, जेसीबी तथा मेटल कटर के साथ घटनास्थल पर पहुंचे।

यह इमारत बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के खतरनाक इमारकों की सूची में शामिल थी और छह महीने पहले ही उसे खाली करने का नोटिस जारी किया गया था। दिल्ली में मौजूद प्रदेश के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मामले की जांच का आदेश दिया है और निगम आयुक्त अजय मेहता से 15 दिनों के अंदर रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App