ताज़ा खबर
 

वीडियो: अब रेलवे पुलिस की लापरवाही, यात्री को प्लैटफॉर्म पर मरने के लिए छोड़ा, मौत

रेलवे पुलिस (जीआरपी) की इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक सीसीटीवी फुटेज सामने आई है।
फुटेज में जीआरपी के कॉन्सटेबल और होम गार्ड रेल दुर्घटना में घायल एक यात्री को तड़पता छोड़ देते हैं। (फोटो सोर्स वीडिो स्क्रीन शॉट)

रेलवे पुलिस (जीआरपी) की इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक सीसीटीवी फुटेज सामने आई है। फुटेज में जीआरपी के कॉन्सटेबल और होम गार्ड रेल दुर्घटना में घायल एक यात्री को तड़पता छोड़ देते हैं। इस दौरान प्लैटफॉर्म पर पड़े यात्री के लिए मदद के लिए दोनों में से कोई आगे नहीं आता है। बल्कि उसे भगवान भरोसे छोड़ दिया जाता है। इस लापरवाही के चलते यात्री की मौत हो गई। घटना के बाद जीआरपी कॉस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं होमगार्ड को बर्खास्त कर दिया गया है। घटना 23 जुलाई (2017) की है। दरअसल 23 जुलाई की आधी रात सनपदा रेलवे स्टेशन पर पनवेल ट्रेन से गिरकर एक यात्री घायल हो गया था। इस दौरान कॉन्सटेबल और होमागार्ड ने यात्री को घायल अवस्था में प्लेटफॉर्म पर तड़पता देखा। लेकिन किसी ने यात्री को हॉस्पिटल ले जाने की जहमत नहीं उठाई। जबकि थोड़ी देर बाद एक ट्रेन आई तो यात्री को उठाकर उसी ट्रेन में चढ़ा दिया। अगली सुबह ट्रेन पनवेल रुकी और अन्य यात्री ट्रेन से उतर गए। हालांकि घायल अवस्था में यात्री ट्रेन में ही पड़ा रहा। इंडिया टुडे की खबर के अनुसार यात्री 10 घंटे तक बदहवास हालत में ट्रेन के फर्श पर पड़ा रहा। करीब दस घंटे बाद जब सफाई कर्मियों की यात्री पर नजर पड़ी। जहां गंभीर रूप से घायल पड़े यात्री को स्थानीय हॉस्पिटल में ले जाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मामले में संबंधित कॉन्सटेबल को सस्पेंड कर दिया गया है जबकि होमगार्ड को बर्खास्त कर दिया गया है। उनके खिलाफ जांच के आदेश दे दिए गए हैं। हालांकि सेंट्रल रेलवे ने उनकी पहचान जाहिर नहीं की है। ये जानकारी रेलवे पुलिस के डीसीपी समाधान पवार ने दी है। जानाकरी के लिए बता दें कि रेलवे पुलिस व अन्य लोगों की लापरवाही की वजह से रोजाना करीब दस लोगों की मौत हो जाती है। जबकि दस से पंद्रह लोग घायल हो जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App