ताज़ा खबर
 

एटीएम कार्ड का क्लोन बना 50 लोगों को लगाया सवा 9 लाख का चूना

रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादातर खाताधारकों के अकाउंट से 10 हजार से लेकर 40 हजार रुपये निकाले गये, लेकिन एक शख्स के खाते से 80 हजार रुपये की निकासी हुई है।

डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करता एक उपभोक्ता। (चित्र का इस्‍तेमाल केवल प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।)

मुंबई में एटीएम कार्ड की क्लोनिंग कर लाखों रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस को शक है कि इस मामले में अंतरराज्यीय गिरोह का हाथ है। इन सायबर बदमाशों ने मुंबई के चरनी रोड पर स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम में ऐसी मशीनें और कैमरे लगा दिए, जिससे ATM का सारा डाटा इसमें रिकॉर्ड हो गया। इन लोगों ने डाटा कॉपी करने के बाद उसकी मदद से क्लोन कार्ड बनाए और मुंबई से दूर गुजरात और फरीदाबाद में रुपए निकाल लिए। पुलिस के मुताबिक, इस मामले में 50 लोगों के 9 लाख 11 हजार रुपए निकाल लिए गए। इस घटना के ज्यादातर पीड़ित सरकारी प्रिंटिंग प्रेस के कर्मचारी हैं। पुलिस में इस मामले की शिकायत लिखवाने वाले शख्स नरेंद्र बिदरा ने कहा कि 6 फरवरी को रात 11 बजकर 8 मिनट पर उनके मोबाइल पर उनके खाते से 14 हजार 500 रुपए की निकासी का मैसेज आया तो वह चौंक गए, क्योंकि उन्होंने अपने एटीएम का इस्तेमाल ही नहीं किया था। रिपोर्ट के मुताबिक, ज्यादातर खाताधारकों के अकाउंट से 10 हजार से लेकर 40 हजार रुपए निकाले गये, लेकिन एक शख्स के खाते से 80 हजार रुपए की निकासी हुई है।

मुंबई पुलिस के एक डिप्टी कमिश्नर मनोज कुमार शर्मा ने कहा कि पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर लिया है और पूरे रैकेट की डिटेल खंगाल रही है। पुलिस के मुताबिक, ज्यादातर पीड़ित एक्सिस बैंक के हैं। इस मामले में मैरीन ड्राइव पुलिस को भी 5 शिकायतें मिली हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सुखलाल वारपे ने कहा कि पूरे केस की जांच की जा रही है। अगर किसी और का नुकसान हुआ है तो उसे तुरंत इस बात की जानकारी पुलिस को देनी चाहिए। एक्सिस बैंक ने कहा है कि उसका विभाग इस पूरे मामले की जांच कर रहा है और ग्राहकों के खातों पर जो भी असर पड़ा है, उसे तत्काल प्रभाव से ठीक कर दिया गया है। हालांकि, बैंक ने यह भी बताया कि एटीएम की सुरक्षा के साथ इस तरह की खिलवाड़ संभव कैसे हो पाई, यह हैरतअंगेज है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App